Career After 12th: यदि आपको भी है योग का शोक, तो 12वीं के बाद करे यह टॉप -9 कोर्स

करियर डेस्क, Career After 12th | योग को मानसिक तनाव और व्याधियों को दूर करने का सबसे स्टीक तरीका माना जाता है. यदि आपको भी योग करना पसंद है, तो आप अपने शौक को प्रोफेशन में बदल सकते हैं. विश्व योग दिवस के जरिए सारी दुनिया ने योग का लोहा माना. जिस वजह से पूरे विश्व में योग की जरूरत बढ़ती जा रही है. मौजूदा समय में यह एक ऐसा प्लेटफार्म है, जो कामयाबी के भरपूर मौके दे रहा है. आप भी अपने शौक को प्रोफेशन में बदलने के लिए योग में डिग्रियां हासिल कर सकते हैं.

Happy Yoga Day Images 4

12वी के बाद योग में बनाए करियर

योग में बैचलर डिग्री

योग के क्षेत्र में बीए कोर्स को एकेडमिक रूप से लिया जा सकता है, यह कोर्स 3 साल का है. इसमें आयुर्वेद की मूल बातों से लेकर योग के महत्व के बारे में भी जानकारी दी जाती है.

यह भी पढ़े -   BSF Jobs 2022: सीमा सुरक्षा बल में आई विभिन्न पदों पर भर्ती, ऐसे करे ऑनलाइन आवेदन

योग में B.SC 

12वीं के बाद ग्रेजुएशन कोर्स के तौर पर आप योग में बीएससी कर सकते हैं. यह 3 साल का डिप्लोमा कोर्स है. इसमें योग विज्ञान, शरीर की रचना, शरीर और मन पर योग के प्रभाव आदि के बारे में विस्तार से पढ़ाया जाता है.

योग में M.A 

यदि आपको योग में मास्टर डिग्री हासिल करनी है, तो आप प्रतियोगी योग में M.A कर सकते हैं. यह 2 साल का कोर्स होता है. इस कोर्स में आपको योग के बारे में जानकारी दी जाती है. इसके बाद इसमें रिसर्च और डेवलपमेंट की पढ़ाई कर आप पीएचडी कर सकते हैं.

योग में M.SC 

ग्रेजुएशन के बाद आप इसे साइंस स्ट्रीम के तौर पर आगे ले जा सकते हैं. इसके लिए आपको एमएससी योग कोर्स को चुनना होगा. बता दें कि इस मास्टर डिग्री में छात्रों को फिजियोलॉजी, उपनिषद, योग थेरेपी और योग सूत्रों जैसी चीजों के बारे में पढ़ाया जाता है.

यह भी पढ़े -   Indian Army में नौकरी का सुनहरा मौका, NCC स्पेशल एंट्री स्कीम के तहत हो रही भर्ती

पीजी डिप्लोमा कोर्स

योग विज्ञान के क्षेत्र में पीजी डिप्लोमा कोर्स भी काफी प्रचलन में है इसे ग्रेजुएशन के बाद किया जा सकता है. इस कोर्स में छात्रों को योग विज्ञान का गहन अध्ययन कराया जाता है.

योग में डिप्लोमा

यदि आप 12वी पास कर चुके हैं और आपका ज्यादा बजट नहीं है, तो आप योग में अच्छा करियर बनाने के लिए डिप्लोमा कोर्स भी कर सकते हैं. इसमें आप प्राकृतिक चिकित्सा, मानसिक स्वास्थ्य जैसी चीजों के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं.

सर्टिफिकेट कोर्स

योग के क्षेत्र में कई तरह के शॉर्ट- टर्म सर्टिफिकेट कोर्स भी उपलब्ध है. बता दें कि यह कोर्स मूल रूप से टीचर ट्रेनिंग के लिए होते हैं. यह कोर्स तय घंटों के हिसाब से होते हैं यह टर्म 200 घंटे, 300 घंटे और 500 घंटे हो सकती हैं. इसमें आपको योग की बुनियादी बातें और प्रोफेशन के तौर पर इसे अपनाने के तरीकों के बारे में जानकारी दी जाती है.

यह भी पढ़े -   HSSC CET: हरियाणा सीईटी परीक्षा को लेकर अपडेट, सीटर को पकड़ने के लिए आयोग ने खोजा तरीका

योग में बीएड

ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद B.Ed योग कोर्स करने के लिए टीचिंग के क्षेत्र पर आप इसे करियर बना सकते हैं. इसके लिए आपको योग के साथ-साथ अच्छा वक्ता होना भी बेहद जरूरी है, ताकि लोगों को अपनी बात अच्छी तरह से समझा सकें.

योग टीचर ट्रेनिंग कोर्स

योग के ट्रेनर की मांग इन दिनों काफी बढ़ रही है, ऐसे में योग टीचर ट्रेनिंग कोर्स करके आप अच्छी नौकरी हासिल कर सकते हैं और इस कोर्स के जरिए आप कुछ नया भी सीख सकते हैं.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!