Sukanya Samriddhi Yojana: सुकन्या समृद्धि योजना में हुए बड़े बदलाव, निवेश करने से पहले जान लीजिए नए नियम

नई दिल्ली, Sukanya Samriddhi Yojana | हर पिता चाहता है कि उसकी बेटी का भविष्य आर्थिक रुप से सपन्न हो आगे चलकर उसे पैसों की कोई दिक्कत न आए. तो अगर आप भी एक बेटी के पिता हैं और चाहतें हैं कि आपकी लाडली का भविष्य उज्जवल हो तो आप सरकार की इस निवेश योजना का लाभ उठा सकते हैं. इस खास स्कीम में निवेश करने पर आपकी बेटी 21 साल में ही लखपति बन जाएगी. इसके लिए बस आपको रोजाना 416 रुपये निवेश करने होंगे. जो आगे चलकर आपकी बेटी के लिए 65 लाख रुपये की मोटी रकम बन जाएगी. जिससे आप अपनी बेटी की पढाई का खर्च आसानी से निकल सकते हैं.

यह भी पढ़े -   NDA Super 100 के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू, यहाँ पढ़ें कैसे कर सकते है रजिस्ट्रेशन

Beti Ladki

सुकन्या समृद्धि योजना में हुए बदलाव

सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) एक ऐसी लंबी अवधि की स्कीम है, जिसमें निवेश करने के बाद आप अपनी बेटी की पढ़ाई और भविष्य को लेकर निश्चिंत हो जाएंगे. इससे भी अच्छी बात यह है कि इसके लिए आपको बहुत ज्यादा रकम निवेश करने की जरूरत नहीं है. इस योजना में कई बड़े बदलाव किए गए हैं. जिसके तहत खाते में गलत ब्‍याज डलने पर उसे वापस पलटने के प्रावधान को हटाया गया है. इसके अलावा खाते का सालाना ब्‍याज हर वित्‍त वर्ष के अंत में क्रेडिट किया जाएगा.

अब ‘तीसरी’ बेटी का भी खोल सकते हैं खाता

गौरतलब है कि पहले इस योजना में दो बेट‍ियों के खाते पर ही 80सी के तहत टैक्‍स छूट का लाभ म‍िलता था, लेकिन तीसरी बेटी पर यह फायदा नहीं म‍िलता था. पर अब नए न‍ियम के तहत एक घर में एक बेटी के बाद यद‍ि दो जुड़वां बेटियां पैदा होती हैं तो उन दोनों के लिए भी यह खाता खुलवा सकते हैं, लेकिन इसके लिए खाते में सालाना कम से कम 250 रुपये जमा करना जरूरी है. अगर सालाना यह राशि जमा नहीं होती है तो अकाउंट को ड‍िफॉल्‍ट मान ल‍िया जाएगा.

यह भी पढ़े -   रेलवे का बड़ा तोहफा, सीनियर सिटीजन को फिर से मिलेगी टिकट में छूट

कब बंद कर सकते हैं अकाउंट

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खोले गए खाते को पहले दो परिस्थियों में ही बंद किया जा सकता है. पहला अगर जिस बेटी के नाम पर खाता है और उसकी मौत हो जाए तो और दूसरा यद‍ि बेटी के रहने का पता बदल जाए तो, लेकिन नए बदलाव के बाद अगर बेटी को कोई जानलेवा बीमारी है तो इस हालत में अभिभावक की मौत होने पर भी समय से पहले अकाउंट बंद क‍िया जा सकता है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!