सीबीएसई ने बदला पैटर्न, इस साल हर हाल में होगी परीक्षाएं

नई दिल्ली। केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड विधार्थियों के हित में समय-2 पर विभिन्न फैसले लेता रहता है. सीबीएसई ने कोरोना महामारी को देखते हुए नया फैसला तैयार किया है जिससे परीक्षा के समय कोरोना महामारी भी खेल नहीं बिगाड़ पाएंगी. सीबीएसई बोर्ड ने इस वर्ष पैटर्न में बदलाव करते हुए दो बार परीक्षा लेने का फैसला लिया है. इस वर्ष हर हाल में परीक्षाएं आयोजित करवाने को लेकर सीबीएसई बोर्ड ने विशेष प्रयत्न किए हैं.

CBSE

नए फॉर्मूले के हिसाब से सेलेब्स 50-50 दो हिस्सों में बांटा गया हैं और बोर्ड परीक्षाएं भी दो चरणों में आयोजित करवाई जाएगी. पहला हिस्सा एमसीकयू टेस्ट पर आधारित होगा तो वही दूसरा हिस्सा सामान्य तौर पर सेंटर पर आयोजित होगा. हालांकि हालात सामान्य न होने की दशा में परीक्षा का दूसरा हिस्सा भी एमसीएक्यू बेस्ड किया जा सकता है.

यह भी पढ़े -   दिल्ली- एनसीआर के लाखों वाहन चालकों के लिए जरूरी खबर, ऐसे वाहनों को देखते ही जब्त करेगी पुलिस

दरअसल कोरोना महामारी के कारण पिछले दो सालों से बोर्ड परीक्षाएं आयोजित नहीं हो पाईं हैं लेकिन इस बार सीबीएसई बोर्ड ने नीतियों में बदलाव किया है. छात्रों की सुविधा और सुरक्षा को देखते हुए सीबीएसई ने परीक्षा को दो भागों में विभाजित किया है. सीबीएसई के परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज के मुताबिक पहली परीक्षा नवम्बर- दिसम्बर 2021 में चार से आठ सप्ताह की समय-सीमा में आयोजित की जाएगी. जबकि दूसरी परीक्षा मार्च -अप्रैल में करवाई जाएगी. यह परीक्षाएं बाहर से आएं परीक्षकों और सीबीएसई बोर्ड द्वारा नियुक्त पर्यवेक्षकों की निगरानी में होंगी.

प्रोजेक्ट व असाइनमेंट आधारित पाठ्यक्रम पर जोर

देश भर के कई शहरों और राज्यों में फिर से स्कूल खुलने के बाद सीबीएसई बोर्ड भी प्रोजेक्ट व असाइनमेंट आधारित पाठ्यक्रम पर जोर दे रहा है. शिक्षा मंत्रालय और बोर्ड चाहते हैं कि समय रहते स्टूडेंट्स अपने प्रोजेक्ट्स व प्रेक्टिकल पूरा कर लें क्योंकि इनका सीधा असर स्टूडेंट्स के वार्षिक मूल्यांकन पर पड़ता है.

यह भी पढ़े -   बॉर्डर खुलवाने को लेकर हाईकोर्ट में याचिका दायर,15 नवम्बर को होंगी सुनवाई

2020 से ही तैयारी में था सीबीएसई

सीबीएसई बोर्ड के मुताबिक जब पहली बार कोरोनावायरस का प्रकोप हुआ तभी से सीबीएसई ने तैयारी शुरू कर दी थी. हालांकि कोरोना की पहली लहर जाने के बाद लगा था कि अब सामान्य प्रक्रिया अपनाई जा सकेंगी लेकिन ऐसा नहीं हो सका. कोरोना की दूसरी लहर के बाद परिस्थितियों को देखते हुए सीबीआई बोर्ड ने नया फॉर्मूला अपनाया है जिसके चलते अब स्टूडेंट्स दो बार परीक्षा देंगे.

यह भी पढ़े -   बॉर्डर खुलवाने को लेकर हाईकोर्ट में याचिका दायर,15 नवम्बर को होंगी सुनवाई

बेबसाइट पर अपलोड होगा

स्टूडेंट्स सवालों के जवाब ओएमआर सीट पर भरेंगे. इन सीटों को स्कैन करने के बाद सीधे सीबीएसई की बेबसाइट पर अपलोड किया जाएगा. मार्च- अप्रैल 2022 में होने वाली परीक्षा बोर्ड के तय किए गए परीक्षा केंद्रों पर होगी. सीबीएसई बोर्ड इंटरनल एसेसमेंट और प्रेक्टिकल पर विशेष ध्यान देगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!