डिप्टी सीएम का आदेश- ईंट-भट्ठों पर काम करने वाले श्रमिकों को न्यूनतम वेतन दिलवाएं अधिकारी

चंडीगढ़  । ईट-भट्ठा पर काम करने वाले श्रमिकों तथा कर्मचारियों के न्यूनतम वेतन को लेकर डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने श्रम विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे इन्हें राज्य सरकार द्वारा निर्धारित न्यूनतम वेतन दिलवाना सुनिश्चित करें. अगर किसी भट्ठा मालिक द्वारा न्यूनतम वेतन से कम वेतन दिए जाने की शिक़ायत सामने आती हैं तो संबंधित जिले का प्रबंधक आरोपी के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करें. बता दें कि डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला के पास श्रम एवं रोजगार विभाग का प्रभार भी है.

dushant chautala

डिप्टी सीएम ने बताया कि प्रदेश सरकार ने 1 जुलाई 2021 से ईंट भट्टा उधोग में काम करने वाले श्रमिकों के मूल वेतन को उपभोक्ता मूल्य सूचकांक से जोड़कर वेतन में 1.31% की बढ़ोतरी की है. उन्होंने बताया कि ईट भट्ठा पर पथाई का काम करने वाले मजदूरों के लिए 558.53 रुपए प्रति एक हजार ईट तथा 628.35 रुपए प्रति एक हजार टाइल की न्यूनतम दर निर्धारित की है. इसके अलावा भट्ठे में ईंटों की भराई करने वाले मजदूरों के लिए के लिए भी न्यूनतम दर निर्धारित की गई है. अगर भट्ठे से पथाई वाले खेत की दूरी 400 मीटर तक है तो उनके लिए 251.31 रुपए प्रति हजार दिए जाने सुनिश्चित किए गए हैं. इससे ज्यादा दूरी होने पर प्रत्येक 100 मीटर की दूरी पर उक्त दर के अलावा 22.28 रुपए प्रति हजार होंगी.

यह भी पढ़े -   आज हरियाणा के CM खट्टर 'समर्पण' कार्यक्रम के पोर्टल का करेंगे शुभारंभ, जानिए आप भी 

डिप्टी सीएम ने बताया कि अगर 1000 मीटर दूरी तक किसी टैंपो या पशु चालित रेहड़ी द्वारा चालित वाहन से ईट भट्ठा पर भराई की जाती है तो 206.61 रुपए प्रति हजार तथा इससे ज्यादा दूरी होने पर प्रत्येक 500 मीटर दूरी से भराई करने वालों को 22.28 रुपए प्रति हजार अतिरिक्त दिए जाएंगे.

उपमुख्यमंत्री ने बताया कि कैरी वाला का काम करने वाले मजदूरों के लिए 44.63 रुपए प्रति एक हजार ईट तथा निकासी वाला के लिए 184.29 रुपए प्रति एक हजार ईट की दरें निर्धारित की गई है. चिनाई वाला , मिस्त्री , कोलमैन व जलाइवाला का काम करने वाले श्रमिक के लिए 11348.43 रुपए मासिक दर निर्धारित की गई है. उपमुख्यमंत्री ने श्रम विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा है कि वे अपने-2 क्षेत्र में ईट भट्ठों पर काम करने वाले श्रमिकों के लिए न्यूनतम वेतन लागूं करवाना सुनिश्चित करें. अगर इस मामले में किसी तरह की कोताही बरतने की शिक़ायत सामने आती हैं तो दोषी पाएं जाने वाले पर कार्रवाई अमल में लाई जाएगी.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!