500 राशन डिपो को ग्राहक सेवा केंद्रों में किया जाएगा तब्दील, मिलेंगे बहुराष्ट्रीय कंपनियों के उत्पाद

चंडीगढ़। हरियाणा में चालू वित्त वर्ष के अंदर 500 राशन डिपो और सस्ते मूल्य की दुकानों को ग्राहक सेवा केंद्र में बदला जाएगा. इसके लिए सभी तैयारियां की जा रही है. बता दें कि डिपो को सरकार द्वारा बैंकिंग सेक्टर से जोड़ा जायेगा. अभी तक पायलट योजना करनाल और सिरसा में शुरू कर दी गई है. उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला द्वारा शुक्रवार को यह जानकारी दी गई.

यह भी पढ़े -   हरियाणा कैबिनेट की हुई महत्वपूर्ण बैठक, लिए गए बड़े फैसले

Ration Depot

जानिए ग्राहक सेवा केंद्रों के बारे में 

उन्होंने बताया कि पायलट तौर पर पांच जिलों मे चार बहुराष्ट्रीय कंपनियों के साथ मिलकर डिपो के माध्यम से सस्ती दरों पर फास्ट मूविंग कंज्यूमर गुड्स उपलब्ध कराए जाएंगे. करनाल,यमुनानगर, सिरसा, फतेहाबाद, पंचकूला जिलों में 63 दुकानों के साथ डाबर इंडिया लिमिटेड, हिंदुस्तान युनिलीवर लिमिटेड, मैरिको लिमिटेड, कोका कोला, एलप्रो कंज्यूमर प्रोडक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड जैसी बहुराष्ट्रीय कंपनियों को जोड़ा जाएगा. बता दें कि इन कंपनियों से ₹7.04 लाख रूपये की वस्तुएं खरीद कर ₹2.29 लाख रूपये के उत्पादों की बिक्री की गई.

यह भी पढ़े -   कल हरियाणा में मनाया जाएगा ‘वर्ल्ड कार फ्री डे’, CM खट्टर चलाएंगे साईकिल

यह योजना सभी 22 जिलों में शुरू की जाएगी. करनाल और सिरसा में सात डिपुओ को बैंकिंग प्रोजेक्ट के साथ जोड़ने के लिए स्टेट बैंक ऑफ इंडिया से समझौता किया गया है. बता दें कि जुलाई 2021 के दौरान 24.40 लाख रुपए  व अगस्त में  लगभग ₹34.50 लाख रूपये का वित्तीय लेनदेन हुआ है. वही दुष्यंत चौटाला ने बताया कि सरकार का मुख्य उद्देश्य प्रदेश में इको सिस्टम बनाना है. जिससे गांव के गरीब लोगों को राशन डिपो में उचित मूल्य की दुकानों के जरिए बहुराष्ट्रीय एफएमसीजी कंपनियां, स्वयं सहायता समूह और अन्य विनिर्माण कंपनियों से प्रमाणित वस्तुओं की वाजिब दर पर बिक्री करना है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!