रेवाड़ी में ऑक्सीजन की कमी मामले में जो भी दोषी पाया गया, उसे बख्शा नहीं जाएगा :अनिल विज

चंडीगढ़ । हरियाणा के रेवाड़ी में ऑक्सीजन खत्म होने की वजह से 4 मरीजों की मौत हो गई थी. जिस पर हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कड़ा एक्शन लिया है. उन्होंने कहा कि रेवाड़ी एडीसी की अध्यक्षता में एक उच्चस्तरीय कमेटी का गठन किया गया है. विज ने कहा कि ऑक्सीजन की कमी क्यों हुई, जबकि प्रशासन के पास ऑक्सीजन की पूरी व्यवस्था है. हर जिले में अधिकारियों की कमेटी सुपरविजन के लिए बनी हुई है. उन्होंने कहा कि उन्होंने डीसी व सिविल सर्जन से देर रात इस बारे में बात की. वही विज ने कहा कि जो भी इसमें दोषी पाया गया, उसे बख्शा नहीं जाएगा.

यह भी पढ़े -   हरियाणा के ये 15 गांव शहर से भी होगा हाईटैक, हर घर में हाई स्‍पीड इंटरनेट कनेक्‍शन

anil vij 2

रेमड़ेसिवर पर कालाबाजारी नहीं होने देंगे 

रेवाड़ी जिले में कोरोना के 500 से ज्यादा एक्टिव केसेस हैं. इनमें 200 के आसपास मरीज अस्पतालों में भर्ती है. कुछ मरीजों की हालत गंभीर बनी हुई है. ऑक्सीजन देने की जरूरत पड़ रही है, ऑक्सीजन की खपत बढ़ने के कारण यहां ऑक्सीजन का स्टॉक खत्म हो गया. कुछ निजी अस्पताल अपने स्तर पर ऑक्सीजन का प्रबंध कर रहे हैं. वहीं शहर के कानोड़ गेट पर एकमात्र अग्रवाल ऑक्सीजन गोदाम में शनिवार शाम तक कुछ सिलेंडर ही ऑक्सीजन के बचे हुए थे. ऑक्सीजन के डिमांड को इसी बात से समझा जा सकता है कि गोदाम के बाहर और अंदर पुलिस का कड़ा पहरा लगाया गया है. कुछ लोग तो ऑक्सीजन का सिलेंडर बाइक पर भी ले जाते हुए दिखाई दिए. वही विज ने कहा कि प्राइवेट अस्पतालों द्वारा रेमडेसीवर की पर्ची लिखकर मरीजों को धमकाने से कालाबाजारी को प्रोत्साहन मिल रहा है.

यह भी पढ़े -   जाने राम रहीम को क्यों ले जाया गया था अस्पताल? डॉक्टरी जांच में निकला सच

निजी अस्पतालों के पास प्राइवेट ऑक्सीजन जनरेटर क्यों नहीं 

सरकार द्वारा इसके लिए दिशा निर्देश दिए गए थे, कि आधार के साथ ही मिलेगी. फिर प्राइवेट अस्पताल प्रोटोकॉल तोड़ने में क्यों लगा हुआ है. उन्होंने कहा कि रेमड़ेसिवर टीके की कालाबाजारी पर अंकुश लगाने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों की कमेटी नियमित रूप से मॉनिटरिंग करने वालों की खपत व उपलब्धता की प्रतिदिन रिपोर्ट तैयार करने में लगी हुई हैं.   अनिल विज ने कहा कि निजी अस्पतालों के पास प्राइवेट ऑक्सीजन जनरेटर क्यों नहीं है, यह सवाल आज के परिवेश में खड़ा हो रहा है. प्राइवेट अस्पतालों को इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए. विज ने कहा कि हमारे सभी अधिकारी इस चीज में लगे हुए हैं जैसे ही ऑक्सीजन  की कमी हो, उसके तुरंत व्यवस्था की जाए.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!