मुख्यमंत्री ने सेवा निवृत्त सेना के अधिकारियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए की बात, जाने किस प्रमुख विषय पर हुई चर्चा

चंडीगढ़ | हरियाणा के सेवानिवृत्त कर्मचारियों के साथ मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने ऑनलाइन कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बातचीत के विशेष सत्र का आयोजन किया गया. पेंशनर्स से बातचीत कई प्रमुख विषयों पर हुई जिनमें से समाज के लिए सेवानिवृत्त कर्मचारियों के अनुभव को कैसे प्रयोग किया जाए इस पर विशेष रूप से बातचीत हुई है.

Haryana CM Press Conference

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने आज हरियाणा के सेवानिवृत्त कर्मचारियों से बातचीत करने के एक कार्यक्रम का आयोजन किया था. जिसमें प्रमुख विषयों को शामिल किया गया था.  समर्पण पोर्टल के संदर्भ में बात की गई है. यह भी चर्चा है कि किस तरीके से समर्पण पोर्टल जनता के लिए लाभदायक रहेगा.

यह भी पढ़े -   26/11 मुंबई हमले के 13 साल, जानें क्या हुआ था उस दिन

सरकार ने ‘समर्पण’ नाम के पोर्टल का निर्माण किया है. इस पोर्टल का उद्देश्य प्रदेश क्यों सभी नागरिकों को एक मंच प्रदान करना है. जो दूसरों की अपनी इच्छा से सेवा करना चाहते हैं. मुख्यमंत्री ने पेंशनर्स अधिकारियों से आग्रह किया कि वह भी इस पोर्टल पर रजिस्टर्ड होकर प्रदेश की जनता की सेवा अपनी इच्छा से करें. उन्होंने यह भी बताया कि सेवानिवृत्त कर्मचारियों के अनुभव का लाभ प्रदेशवासियों को हो सके, इसके लिए उन्हें पूरा सहयोग देना चाहिए.

जानिए ‘समर्पण’ पोर्टल के बारे में विस्तार से

समर्पण हरियाणा सरकार द्वारा निर्मित एक ऐसा पोर्टल है. जिस पर सेवा भाव से कोई भी व्यक्ति समाज के लिए, यदि कोई अपनी इच्छा से सेवा देना चाहता है. तो वह व्यक्ति  इस पोर्टल पर रजिस्टर्ड होकर अपनी सेवा भाव को दिखा सकता है. समर्पण के माध्यम से पेश की गई स्वैच्छिक सेवा के विभिन्न क्षेत्रों में सरकार द्वारा चलाई जा रही योजना से जुड़ी है. इनमें शिक्षा, महिला एवं बाल विकास, किसान कल्याण, कौशल विकास, पर्यावरण संरक्षण, खेल, सामुदायिक स्वच्छता, सोशल ऑडिट के माध्यम से सर्विस डिलीवरी और चरित्र निर्माण शामिल किया गया है. समर्पण के माध्यम से हरियाणा सरकार उन सभी व्यक्तियों को एक मंच प्रदान करना चाहती है जो समाज के लिए अपनी इच्छा से कुछ बेहतर प्रयास अपनी सेवाओं को देकर करना चाहते हैं.

यह भी पढ़े -   इस दिन से शुरू होगा हरियाणा विधानसभा का शीतकालीन सत्र, मंत्रिमंडल की बैठक में लिया गया निर्णय

मुख्यमंत्री ने इस पूरी चर्चा में सभी रिटायर्ड सेना के कर्मचारियों से सुझाव भी मांगे कि सरकार किस तरीके से रिटायर्ड कर्मचारियों के लिए बेहतर कार्य कर सकते हैं. जिसके फलस्वरूप हरियाणा के अलग-अलग राज्यों के रिटायर्ड अधिकारियों ने अपने विचार प्रकट करते हुए अपनी समस्याओं को भी बताया. सभी ने सरकार के इस कदम की प्रशंसा की है. इस मीटिंग का मुख्य उद्देश्य यह था कि किस तरीके से हरियाणा की जनता के लिए बेहतर कार्य किया जा सकता है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!