हरियाणा के मुख्यमंत्री का किसान आंदोलन को लेकर बड़ा बयान, ओम प्रकाश चौटाला का किया समर्थन

चंडीगढ़ । हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने पूर्व सीएम ओमप्रकाश चौटाला और किसानों के बीच चल रहे विवाद में ओपी चौटाला का समर्थन किया है. बता दें कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि अगर किसानों ने ओपी चौटाला को बुलाया था, उन्हें बोलने देना चाहिए था, नेताओं को भी देखना चाहिए था कि वह कहां जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि यह चौटाला साहब के लोकतांत्रिक अधिकार का हनन है. अगर उन्हें बुलाया गया था तो उन्हें बोलने भी देना चाहिए था.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में अपना घर खरीदने वालों के लिए अच्छी खबर, बढ़ी फ्लैटों के आवेदन की तिथि

haryana cm

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने ओपी चौटाला का किया समर्थन

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने राजनीतिक पार्टियों को सचेत करते हुए कहा अब राजनीतिक पार्टियों को भी सोचना चाहिए कि वो इन लोगों का समर्थन करे या नहीं. अब किसान आंदोलन में तमाम तरह की ताकत काम कर रही है. उन्होंने कहा कि इसके पीछे कुछ खालिस्तानी ताकते भी हैं. बता दें कि कृषि कानूनों के खिलाफ जींद के खटकड़ टोल प्लाजा पर किसानों का धरना लगातार जारी है. किसी धरने में रविवार को ओम प्रकाश चौटाला को आना था, लेकिन किसानों द्वारा पहले ही ऐलान कर दिया गया, वह ओपी चौटाला को ना तो मंच साझा करने देंगे, ना ही उन्हें बोलने के लिए माइक देंगे. वहीं रविवार को चौटाला किसानों के धरने पर पहुंचे. किसानों ने उन्हें मंच के सामने बैठने के लिए कुर्सी भी दी.

यह भी पढ़े -   सिंघु बॉर्डर हत्या: मुख्यमंत्री खट्टर ने बुलाई उच्चस्तरीय बैठक, बोले- दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा

वहीं संयुक्त किसान मोर्चा के पदाधिकारियों ने उनका जोरदार स्वागत किया, लेकिन किसानों से बातचीत करने के लिए उन्हें माइक नहीं दिया गया. ओपी चौटाला कुछ देर तक माइक के इंतजार में खड़े भी रहे. ओपी चौटाला को उनके पोते करण चौटाला ने कुछ देर तक मंच पर सहारा देकर खड़े रखा. परन्तु किसानों ने उन्हें संबोधित करने का मौका ही नहीं दिया. इससे कुछ देर तक राजनीतिक माहौल गर्म बना रहा और ओमप्रकाश चौटाला बिना कुछ बोले ही वहां से चले गए.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!