CM खट्टर को पाकिस्तानी बोल कर फंस गए किसान नेता चढूनी, होने लगी देशद्रोह केस की मांग

Casino

चंडीगढ़ । प्रदेश के किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी के लिए परेशानी पैदा हो सकती है. राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल को पाकिस्तानी कहने के लिए उन पर घेरा कसने की तैयारी है, और उनके खिलाफ़ देशद्रोह का मामला भी दर्ज करने की मांग की जा रही है.हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल को पाकिस्तानी कहकर बुरे फंसे भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी की मुसीबतें बढ़ सकती है. चढूनी के खिलाफ़ प्रदेश में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. और उनके पुतले फूंके जा रहे हैं.

Gurnam Singh Chadhuni

पंजाबी समुदाय के लोगों तथा जनप्रतिनिधियों ने उनके खिलाफ़ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार करने की मांग की है. हरियाणा वेयर हाउसिंग कॉरपोरेशन के चेयरमैन व पृथला के निर्दलीय विधायक नयनपाल रावत ने कहा कि चढूनी न केवल देश द्रोही हैं, बल्कि मेहनकश लोगों का अपमान कर उन्होंने अपनी घटिया मानसिकता को उजागर कर दिया है.

प्रदेश में हो रहा विरोध अब विधायक भी करने लगे कार्रवाई की मांग

नयनपाल रावत ने मीडियाकर्मियों से बातचीत में कहा- कि गुरनाम सिंह चढूनी राकेश टिकैत और योगेंद्र यादव सरीखे के लोगों ने पूरे प्रदेश में अराजकता का माहौल पैदा कर रखा है. ये लोग अपने राजनीतिक दुर्भाग्यपूर्ण आंदोलन के जरिये साबित करना चाह रहे हैं, कि उनसे बड़ा किसानों का कोई हितैषी नहीं है. जबकि कौन सा ऐसा जनप्रतिनिधि होगा, जो किसानों के हितों की परवाह नहीं करेगा. केंद्र और राज्य सरकार किसानों की सबसे बड़ी हितैषी है. राज्य के करीब 42 लाख किसानों को 11,000 करोड़ रुपये से अधिक की सहायता राशि प्रदान की जा चुकी है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा: गांव के ही युवक के साथ भागी पत्नी, शर्म के मारे पति ने बच्चों के साथ लगा ली फांसी

निर्दलीय विधायक नयनपाल रावत ने चढूनी के साथ राकेश टिकैत और योगेंद्र यादव पर भी निशाना साधा

रावत ने कहा कि यदि तीन कृषि कानून किसानों के हित में नहीं होते तो क्या प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री मनोहर लाल इन कानूनों को लेकर आते. मतलब साफ है आंदोलनकारी कांग्रेस के हाथों में खेल रहे हैं. गुरनाम सिंह चढूनी ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल को पंजाबी कहकर पाकिस्तान से आए लोगों की भावनाओं पर हमला किया है.

यह भी पढ़े -   Deputy CM दुष्यंत चौटाला की अधिकारियों को फटकार, बोलें- सरकारी बॉस नहीं, जनता के सेवक बनकर करें काम

उन्होंने कहा कि इन लोगों ने यहाँ आकर मेहनत की और अपने कामों के बूते नई पहचान बनाई. अब चढूनी से कोई पूछे कि क्या मेहनत करके खाना भी कोई अपराध है. चढूनी ने उसे मेहनतकश मुख्यमंत्री मनोहर लाल के विरुद्ध अपमानजनक शब्द बोले हैं. जो भ्रष्टाचार रहित व्यवस्था बनाकर पूरे प्रदेश को उन्नति के रास्ते पर लेकर जा रहे हैं. उन्होंने चढूनी के खिलाफ़ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज कराने के लिए जल्द ही सीएम से मुलाकात करने की बात कही है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में अगस्त से खुलेंगे पहली से पांचवी तक के विद्यार्थियों के लिए स्कूल, शिक्षा मंत्री ने दी जानकारी

सरसों के गबन की विजिलेंस जांच होगी

रोहतक के कालानौर में करीब एक करोड़ 62 लाख से ज्यादा की सरसों के गबन के मामले में विभागीय कार्रवाई के आदेश दे दिए गए हैं. चेयरमैन नयनपाल रावत ने बताया कि एक जिला प्रबंधक और दो मैनेजरों को तुरंत प्रभाव से सस्पेंड किया जा चुका है. पुलिस को शिकायत देकर मामला दर्ज हो चुका है. तथा साथ ही विभागीय जांच भी शुरू कर दी गई है. जांच में जो भी दोषी पाए जाएंगे, उन्हें किसी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा. इस मामले में विजिलेंस इंक्वायरी के साथ-साथ आरोपियों को सलाखों के पीछे भेजने का भी काम किया जाएगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!