हरियाणा में गेहूं की खरीद के नए नियम, अब मंडियों में बिना मैसेज भी किसानों को मिलेगा गेट पास

चंडीगढ़ । हरियाणा में गेहूं खरीद को लेकर सरकार ने स्पष्ट कर दिया कि अबकी बार 10 अप्रैल से मंडियों में गेहूं की आवक शुरू होगी. कई बार विपक्ष द्वारा भी इस मुद्दे को लेकर सरकार को घेरा गया, लेकिन अब सरकार ने बिल्कुल स्पष्ट कर दिया है. साथ ही उन्होंने कहा कि किसी भी किसान को फसल बेचने में किसी भी प्रकार की दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ेगा, इसके लिए नियमों में भी बदलाव किया गया है. अब बगैर SMS के भी मंडियों मे गेहूं लेकर आने वाले किसानों से गेहूं को खरीदा जाएगा. सरकार द्वारा पहले से ही कई शर्तों को वापस ले लिया गया है. उम्मीद है कि अबकी बार 80 लाख मैट्रिक टन गेहूं की खरीद होगी.

यह भी पढ़े -   पत्रकारों के लिए सुप्रीम कोर्ट से आई राहत भरी खबर, जाने क्या

 

Bajra Mandi

मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर दर्ज करवाना होगा किसानों को अपनी फसल का ब्यौरा 

 

बता दे कि हरियाणा में करीब 400 केंद्रों पर 1 अप्रैल से ही गेहूं की खरीद शुरू हो चुकी है. अभी किसानों की आवक कम ही है. जिसके चलते मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल को पंजीकरण के लिए दोबारा से खोला गया है. हरियाणा के कृषि मंत्री जेपी दलाल ने सोमवार को चंडीगढ़ में कहा कि प्रदेश भर में बहुत सी ऐसी मंडियों की शिकायत मिल रही है जिसमे किसान बगैर तय तिथि और बगैर SMS से ही गेहूं लेकर पहुंच रहे हैं.

पहले सरकार द्वारा इसके लिए स्पष्ट सूचित किया गया था कि पंजीकृत किसानों को एसएमएस के जरिए बुलाया जाएगा, लेकिन इसके बाद किसानों के रुख को देखते हुए यह सुविधा भी प्रदान कर दी गई कि वह अपनी इच्छा से किसी दिन को चुने और मंडी में गेहूं लेकर पहुंचे. वहीं कृषि मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि बिना खरीद की तारीख वाले मैसेज के मंडी जाने वाले किसानों का भी सरकार पूरा ख्याल रख रही है. मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल में दर्ज किसान की फसल बिना मैसेज की तारीख के भी खरीदी जाएगी. अगर किसान मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने के बाद ही दी गई, तारीख के अनुसार अपनी फसलों को मंडी में लाएंगे तो उन्हें किसी भी प्रकार की असुविधा का सामना नहीं करना पड़ेगा.

यह भी पढ़े -   केजरीवाल सरकार ने फिर बढ़ाया सात दिन का लॉकडाउन, जाने क्या रहेंगी पाबंदियां

 

अगेती फसल की बिना शेड्यूल होगी खरीद 

कृषि मंत्री के अनुसार किसानों को जहां पोर्टल पर रिपोर्ट अपडेट करने में इंटरनेट की समस्या आ रही थी.  वहां सभी कर्मचारियों को निर्देश दिए गए हैं कि वे फसल का ब्योरा दर्ज करवाने के लिए अपने अपने क्षेत्र के किसानों की सहायता करें. गेहूं की खरीद को लेकर प्रदेश सरकार पूरी तरह से किसानों के साथ है.इसकी वजह से अबकी बार गेहूं की खरीद की अंतिम तिथि तय नहीं की गई. वही हरियाणा की मंडियों में गेहूं की आवक को लेकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने भी ट्वीट किया और कहा कि प्रदेश की मंडियों में गेहूं खरीद की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!