हरियाणा सरकार ने सरकारी स्कूलों में मोबाइल लाने पर लगाई रोक

चंडीगढ़ । अब हरियाणा के गवर्नमेंट स्कूलों में पढ़ाई करने वाले छात्र मोबाइल नहीं ला पाएंगे. स्कूलों में मोबाइल लाने पर सरकार ने पाबंदी लगा दी है. जिन छात्रों को ऑनलाइन स्टडी करनी है वह अपने घर पर ही ऑनलाइन स्टडी करेंगे. इस संबंध में शिक्षा मंत्री कवर पाल गुर्जर ने विभाग को स्पष्ट आदेश जारी कर दिए हैं.

KanwarPal Gurjar

अटके हुए भर्ती मामलों में तेजी लाई जाएगी

शिक्षा मंत्री कवर पाल गुर्जर ने कहा कि विद्यालयों में अब कोई भी छात्र मोबाइल फोन नहीं लाएगा. बुधवार को उन्होंने विभाग की कई योजनाओं की प्रगति रिपोर्ट ली. शिक्षा मंत्री ने विभाग में अटके हुए भर्ती के मामलों में तेजी लाने के लिए कहा. शिक्षा मंत्री कंवर पर गुज्जर ने जानकारी देते हुए कहा कि भर्तियों में जो भी कानूनी अड़ंगीयां लग रही है, शीघ्र ही उनका निवारण किया जाएगा. विभाग में खाली पड़े ग्रुप डी के पदों पर जल्दी भर्ती करवाने के प्रस्ताव को तैयार करने के आदेश दिए गए हैं. प्राथमिकता के आधार पर शिक्षकों के तबादले के मामलों को निपटाया जाएगा.

यह भी पढ़े -   हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला, मनमानी रोकने के लिए निजी अस्पतालों का प्रबंधन खुद संभालेगी सरकार

प्रदेश में जल्द लागू होगी नई शिक्षा नीति

सीबीएसई बोर्ड ने 136 मॉडल संस्कृति स्कूलों में से 122 स्कूलों को मान्यता दे दी है. कोविड-19 कोरोना महामारी की वजह से दो लाख से ज्यादा छात्रों ने प्राइवेट स्कूलों से सरकारी स्कूलों में दाखिला लिया था. इनमें नौवीं के छात्रों की संख्या ज्यादा है. मीटिंग में नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के मुद्दे पर भी विचार विमर्श किया गया. हरियाणा में नई शिक्षा नीति को लागू करवाने के लिए बनाई गई कमेटियों की रिपोर्ट जल्दी जारी करने के आदेश दिए गए, ताकि शीघ्र अति शीघ्र नई शिक्षा नीति को लागू करवाया जा सके.

यह भी पढ़े -   कोरोना के खिलाफ मुख्यमंत्री खट्टर समेत कई मंत्री और अफसर उतरे मैदान में, जाने किसकी क्या है ड्यूटी

जानिए मीटिंग के पश्चात शिक्षा मंत्री ने क्या कहा

शिक्षा मंत्री कवर पाल गुर्जर ने बैठक समाप्त होने के पश्चात कहा कि जेबीटी की संख्या पूरी हो चुकी है. एचएसएससी को पीजीटी की भर्ती के लिए पत्र लिखा गया है. टीजीटी की कमी को पूरा करने की कोशिश हो रही है. दूसरी ओर, विद्यालयों में आने वाले विद्यार्थियों का तापमान विद्यालय के बाहर ही जांच होता है. जिस विद्यार्थी का तापमान अधिक पाया जाता है उन विद्यार्थियों को विद्यालयों में जाने नहीं दिया जा रहा है. ऐसे विद्यार्थियों को बाहर से ही अपने-अपने घर भेज दिया गया है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!