हरियाणा सरकार करेगी 11 हजार शिक्षकों की भर्ती, यहाँ देखे भर्तियो की लिस्ट

चंडीगढ़ | हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने स्कूलों को बंद करने और शिक्षकों की रिक्तियों की खबरों को ‘भ्रामक और निराधार’ करार दिया है. मुख्यमंत्री ने संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार किसी भी स्कूल को बंद नहीं कर रही है. राज्य सरकार 11,000 शिक्षकों की भर्ती करेगी. जिसमें से 5000 पीजीटी की भर्ती एचपीएससी और 6000 टीजीटी की भर्ती एचएसएससी द्वारा की जाएगी. नियमित भर्ती होने तक कौशल रोजगार के माध्यम से शिक्षकों की भर्ती की संभावनाएं भी तलाशी जाएंगी.

यह भी पढ़े -   Mansa Clerk Jobs: डिस्ट्रिक्ट एवं सेशन जज मानसा में आई क्लर्क के पदों पर भर्ती, 10 अक्टूबर अंतिम तिथि

Teacher

पिछले 8 वर्षों में हमने 8,600 पीजीटी और टीजीटी की भर्ती की है. माननीय सर्वोच्च न्यायालय में चल रहे पीआरटी शिक्षकों के मामले का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार उन शिक्षकों के साथ खड़ी है. उन्होंने कहा कि ये सभी शिक्षक योग्य हैं और सरकार ऐसे शिक्षकों को नई भर्ती प्रक्रिया में भर्ती करने पर भी विचार कर सकती है.

पदों के विज्ञापित होने के बाद इन शिक्षकों ने एचटीईटी परीक्षा उत्तीर्ण की थी. जिससे उनकी नियुक्ति पर सवाल खड़ा हो गया था. उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण शिक्षकों के ऑनलाइन स्थानांतरण की प्रक्रिया ठप पड़ी है. इस दौरान कई शिक्षक सेवानिवृत्त हुए और कई पदोन्नत हुए. अब राज्य सरकार ने फिर से तबादला अभियान शुरू किया है और 90 प्रतिशत से अधिक शिक्षक ऑनलाइन तबादले से संतुष्ट हैं.

यह भी पढ़े -   Chandigarh Housing Board Jobs: चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड में आई अनेक पदों पर भर्ती, आज से आवेदन शुरू

उन्होंने कहा कि जब कुछ स्कूलों में शिक्षक स्थानांतरण नीति का काम बंद कर दिया गया तो शिक्षकों की संख्या छात्रों की संख्या की तुलना में कम हो गई, जबकि कुछ स्कूलों में शिक्षकों की संख्या छात्रों की संख्या से अधिक थी. इसलिए शिक्षक छात्र अनुपात यानी 30:1 के अनुसार शिक्षकों का युक्तिकरण अनिवार्य हो गया. सीएम ने कहा कि इस साल जब हमने फिर से ऑनलाइन ट्रांसफर की प्रक्रिया शुरू की तो हमने पाया कि 117 सरकारी माध्यमिक विद्यालय थे. जिसमें कोई शिक्षक नहीं था और ऐसे उच्च विद्यालयों में 2,000 से अधिक पीजीटी कार्यरत थे. जहां कक्षा नौवी और दसवीं में केवल एक या दो खंड थे. इसलिए शिक्षकों को कार्यभार के अनुसार युक्तिसंगत बनाने का निर्णय लिया गया है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!