हरियाणा में 29 दिसंबर तक मौसम रहेगा परिवर्तनशील, बारिश की संभावना

चंडीगढ़ । उत्तर पर्वतीय इलाकों से लगातार एक के बाद एक सक्रीय मौसम प्रणाली वेस्टर्न डिस्टर्बेंस का प्रभाव बना हुआ है ,जिसकी वजह से उत्तर पश्चिमी हरियाणा, पंजाब और राजस्थान पर चक्रवातीय सर्कुलेशन बनने से हवाओं की दिशा में परिवर्तन हो गया है. दक्षिणी- पूर्वी नमी वाली हवाओं और पछुआ हवाओं के मिलन से मैदानी राज्यों में 26 से 29 दिसंबर तक विशेषकर पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और राजस्थान में हल्की से मध्यम बारिश व ओलावृष्टि होने की संभावना बन रही है.

यह भी पढ़े -   2 दिन के लिए मेहमान बनकर घर ठहरी थी पत्नी की दोस्त, फिर हुआं कुछ ऐसा कि लेना पड़ा पुलिस का सहारा

barish 3

किसानों के लिए फायदेमंद

वहीं हल्की बारिश से किसानों के चेहरों पर खुशी देखी जा रही थी. किसानों का कहना है कि यह बारिश रबी की फसलों के लिए सोने पर सुहागा होगी. दिसंबर व जनवरी के दौरान होने वाली हल्की बारिश गेहूं, सरसों व जौं की फसल के लिए काफी फायदेमंद साबित होती है.

वहीं मौसम विभाग के अनुसार सोमवार को भी आसमान में बादल छाए रहेंगे तथा बारिश होने की संभावना है. वहीं रविवार को हुई हल्की बारिश से ठंड में इजाफा हुआ है. हल्की बारिश फसलों के लिए वरदान है लेकिन ओलावृष्टि से नुकसान पहुंच सकता है. 30 दिसंबर से आसमान साफ रहेगा.

यह भी पढ़े -   हरियाणा की इस यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने रचा इतिहास, पशुओं के लिए तैयार की पहली कोविड-19 वैक्सीन

मौसम विभाग ने पूर्वानुमान जताया था कि रविवार से मौसम परिवर्तनशील होगा और हल्की से मध्यम बारिश होगी. मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार ही प्रदेश के कई जिलों में दोपहर तो कई जिलों में शाम के करीब बूंदाबांदी होने से ठिठुरन बढ़ गई.

बता दें कि दिसंबर के दूसरे सप्ताह के बाद से ही लोगों को कड़कड़ाती ठंड का अहसास होना शुरू हो गया था. पाला गिरने से प्रदेश का न्यूनतम तापमान माइनस में दर्ज किया जा रहा था. लेकिन पिछले एक सप्ताह से न्यूनतम तापमान में धीरे-धीरे इजाफा होने से लोगों को ठंड से निजात मिली है. अभी आने वाले 2-3 दिन बूंदाबांदी की संभावना बनी रहेगी.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!