आज हरियाणा कांग्रेस का दिखेगा अनूठा नजारा, कुमारी सैलजा के साथ खड़े होंगे हुड्डा समर्थक विधायक

Casino

चंडीगढ़ | कई दिनों से पेगासस जासूसी मामला सुर्खियों में छाया हुआ है. मामले को लेकर केंद्र सरकार के ऊपर संसद से लेकर सड़क तक कई सवाल उठाए जा रहे हैं. अब भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने मामले के ऊपर देशभर में केंद्र सरकार को घेरने के लिए मोर्चा खोल दिया है. इसी के तहत आज हरियाणा कांग्रेस भी केंद्र सरकार के खिलाफ पैदल मार्च करेगी लेकिन इस दौरान प्रदेश कांग्रेस का एक दिलचस्प नजारा देखने को मिलेगा.

kumari selja

आज हरियाणा कांग्रेस प्रदेश कांग्रेस प्रभारी विवेक बंसल और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी सैलजा के नेतृत्व में पेगासस जासूसी कांड का विरोध करते हुए हरियाणा राजभवन तक पैदल मार्च निकालने वाली है. इस पैदल मार्च की खास बात यह है कि इसमें पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा समर्थक विधायक भी शामिल होंगे.

गौरतलब हो कि हरियाणा कांग्रेस के भीतर लंबे समय से प्रदेश अध्यक्ष कुमारी सैलजा और हुड्डा समर्थक विधायकों के बीच अंदरूनी लड़ाई छिड़ी हुई है. लेकिन चूंकि पेगासस जासूसी कांड के विरोध में कांग्रेस पूरे देश में विरोध प्रदर्शन कर रही है तो ऐसे में किसी भी गलत संदेश से बचने के लिए हुड्डा ने अपने सभी विधायकों को बृहस्पतिवार को चंडीगढ़ में निकाले जाने वाले पैदल मार्च में शामिल होने को कहा है. हालांकि स्वयं हुड्डा इस पैदल मार्च में शामिल नहीं होंगे क्योंकि कोरोना संक्रमण के बाद से उन्हें 31 जुलाई तक डॉक्टरों द्वारा आराम करने की सलाह दी गई है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में 20 हज़ार परिवारों को मिलेंगे सस्ते मकान, तेज़ी से चल रहा निर्माण कार्य

सौ बात की एक बात यह है कि हुड्डा समर्थक नहीं चाहते कि कुमारी सैलजा हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष बनी रहे. जिसके लिए हुड्डा समर्थकों ने लगातार विरोध भी जाहिर किया और दिल्ली हाईकमान से कई बैठकें भी की. कुछ दिनों से प्रदेश के भीतर बढ़ती महंगाई को लेकर प्रदेश कांग्रेस विरोध प्रदर्शन कर रही है. लेकिन इन आयोजनों में हुड्डा समर्थक विधायक शामिल नहीं हुए.

यह भी पढ़े -   हरियाणा के मुख्यमंत्री का किसान आंदोलन को लेकर बड़ा बयान, ओम प्रकाश चौटाला का किया समर्थन

यह तो साफ तौर पर कहा जा सकता है कि हरियाणा कांग्रेस दो भागों में बची हुई है एक ओर कुमारी सैलजा के समर्थक विधायक तो वहीं दूसरी ओर हुड्डा के समर्थक विधायक. शीर्ष नेतृत्व द्वारा भी कई बार प्रदेश कांग्रेस के भीतर के अंदरूनी लड़ाई को खत्म करने का प्रयास किया गया लेकिन स्थिति जस की तस बनी हुई है. अब देखना दिलचस्प होगा कि आज जब हुड्डा समर्थक विधायक कुमारी सैलजा के साथ खड़े हुए नजर आएंगे तो क्या यह हरियाणा कांग्रेस की अंदरूनी लड़ाई खत्म करने की शुरुआत होगी!

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!