हरियाणा में बेरोजगारी की दर खतरे के निशान से भी ऊपर: दीपेंद्र सिंह हुड्डा

चंडीगढ़ । राज्यसभा सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि प्रदेश में बेरोजगारी की दर खतरे के निशान से भी ऊपर चली गई है. बता दें कि सी.एम. आई. ई के ताजा आंकड़ों के अनुसार बेरोजगारी दर कई महीनों की तरह एक बार फिर देश भर में सबसे ज्यादा 28.1 प्रतिशत पर पहुंच गई है. यह सरकार की निष्क्रियता के चलते हैं, युवा तनावग्रस्त हो रहे हैं. उन्हें अपना भविष्य अंधेरे में जाता हुआ नजर आ रहा है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला रोडवेज और प्राइवेट बस सेवा अगले आदेशों तक बंद

dipender hudda

सरकार के निकम्मेपन के कारण बेरोजगारी बढ़ती हुई :दीपेंद्र सिंह हुड्डा

साथ ही उन्होंने कहा कि राज्य में फैक्ट्रियां और भतयां दोनों ही बंद पड़ी है. प्रदेश में लगातार बेरोजगारी बढ़ रही है. उन्होंने सरकार को चेताया कि अगर ऐसे ही बेरोजगारी बढ़ती रही,  तो स्थिति काफी विस्फोटक बन सकती है. उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार की दिशा हीन  नीतियों के चलते प्रदेश में कोई भी निवेश के लिए तैयार नहीं है. सरकारी खर्च पर बड़ी-बड़ी बिजनेस समिट और मंत्री मुख्यमंत्री के विदेश दौरों का नतीजा अब तक जीरो ही रहा है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में लॉकडाउन को लेकर स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज का बड़ा बयान, जाने

सत्ताधारी नेता मंत्री सरकारी खजाने से निवेश के नाम पर सैर सपाटा करते हुए दिखाई दे रहे हैं. अर्थव्यवस्था की स्थिति बिगड़ती जा रही है. इसके अलावा एक के बाद एक करोड़ो के घोटालों की वजह से खजाना भी खाली होता जा रहा है. जो पैसा खजानो में जाना चाहिए,  वह खजानो के नाम पर घोटाले बाजी की जेब में जा रहा है. जिस प्रदेश ने राष्ट्रीय राजधानी को तीन तरफ से घेर रखा है. उसका देश भर में बेरोजगारी दर में नंबर वन होने का सबसे बड़ा कारण सरकार का निकम्मा पन है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!