हरियाणा में मंत्रिमंडल विस्तार को उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला का बड़ा बयान, पढ़ें

Casino

चंडीगढ़। हरियाणा में चल रही मंत्रिमंडल विस्तार की उठापटक के बीच डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने बताया कि हरियाणा में मंत्रिमंडल विस्तार होना है. दोनों दलों (भाजपा- जजपा) के कोटे से एक-2 कैबिनेट मंत्री बनना है. इसके साथ ही अगर मंत्रिमंडल में फेरबदल होगा तो वो बाद में देखेंगे लेकिन फिलहाल आज के दिन इन बातों का पर कोई चर्चा नहीं है. उपमुख्यमंत्री ने कहा कि सब कुछ समय के हिसाब से किया जाएगा और जो भी निर्णय होगा वो प्रदेश हित में ही होगा.

dushant chautala

किसान आंदोलन को लेकर पूछे गए सवालों के जवाब में उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि किसान आंदोलन के जरिए कुछ लोग अपनी खोई हुई राजनीतिक जमीन तलाशने में जुटे हुए हैं. आज के दिन इस आंदोलन में किसान नेता नहीं, बल्कि राजनेता हैं. पिछले एक साल से किसानों की फसलों को एमएसपी पर खरीदा जा रहा है, मंडियां भी ज्यों कि त्यों चालू है. दुष्यंत चौटाला ने कहा कि कृषि कानूनों को लेकर किसानों को बरगलाने का काम किया जा रहा है लेकिन अब धीरे-धीरे इनकी सच्चाई सामने आने लगी है. पिछली गेहूं की खरीद प्रक्रिया दस दिन पहले शुरू की गई थी और हमने एक- एक दाना किसानों का खरीदा और उसका भुगतान सीधा खातों में किया.

उपमुख्यमंत्री ने किसान आंदोलन की अगुवाई कर रहे किसान नेताओं से सवाल किया कि जो लोग दिल्ली बार्डर पर इन भोले-भाले किसानों को लेकर आएं थे,उस समय वो कहां थे जब सरकार इन कृषि कानूनों को डेढ़ साल तक स्थगित करके किसानों की सभी शर्तों को मान रहीं थीं वो पीछे क्यों हटें. उन्होंने कहा कि किसान नेताओं का मकसद कृषि कानूनों में संशोधन लाने का नहीं बल्कि आगामी चुनावों से जुड़ा हुआ है. कुछ राजनीतिक लोग किसान आंदोलन के जरिए सत्ता परिवर्तन की कोशिशों में लगे हुए हैं. लेकिन अब इनकी बातें प्रदेश वासियों को भी समझ में आने लगी है और धीरे-धीरे यह स्पष्ट भी हो जाएगा.

यह भी पढ़े -   रोडवेज बसों का नहीं बढ़ेगा किराया, परिवहन मंत्री ने दी जानकारी

उपमुख्यमंत्री ने डिप्टी स्पीकर रणबीर गंगवा और विधायक देवेंद्र बबली की गाड़ी पर तोड़फोड़ करने की घटना पर तंज कसते हुए कहा कि किसानों के नाम पर कुछ असामाजिक तत्व गुंडागर्दी करने पर तुले हुए हैं. धीरे-धीरे सामाजिक लोग आंदोलन से दूर होते जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि फसलों की पेमेंट सीधे किसानों के खाते में जमा करवाने का निर्णय ऐतिहासिक है और निश्चित तौर पर इससे किसान मजबूत होंगे.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!