माओवादियों के साथ हुई मुठभेड़ मे हरियाणा का लाल शहीद, राजकीय सम्मान के साथ किया गया अंतिम संस्कार

चरखी दादरी ।  स्वतंत्रता दिवस के दिन अरुणाचल प्रदेश में माओवादियों के साथ मुठभेड़ हुई. जिसमें दादरी के गांव मोड़ी निवासी हवलदार वेद प्रकाश शहीद हो गए. बता दें कि शहीद का उनके पैतृक गांव में सैन्य और राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया. वीर जांबाज को विदाई देने के लिए गांव में जनसैलाब उमड़ गया. वेद प्रकाश अमर रहे,  जब तक सूरज चांद रहेगा वेदप्रकाश तेरा नाम रहेगा के नारों से आसमान गूंज उठा. वहीं इसी दौरान सैन्य और पुलिस टुकड़ी ने मातमी धुन के साथ हवाई फायर कर शहीद को सलामी दी.

यह भी पढ़े -   Haryana Roadways Jobs: हरियाणा रोडवेज में आई सीधी भर्ती, यहाँ से करे ऑनलाइन आवेदन

dadri news 2

हरियाणा का लाल हुआ शहीद

गांव मोड़ी निवासी 40 वर्षीय वेद प्रकाश 22 साल पहले सेना की असम राइफल रेजीमेंट में भर्ती हुए थे. बता दे कि सेवाकाल के दौरान उनकी तैनाती अरुणाचल प्रदेश में हो गई. परिजनों के अनुसार रविवार सुबह वेद प्रकाश की जहां तैनाती थी उस पोस्ट पर स्वतंत्रता दिवस पर ध्वजारोहण किया गया था.

यह भी पढ़े -   शर्मनाक: दिल्ली पुलिस के जवान की हैवानियत, 3 बेटियां होने पर पत्नी को दिया ज़हर

जवानों के राष्ट्रीय सलामी देते ही पेट्रोलियम टीम गश्त के लिए चली गई, उन्हीं के साथ हवलदार वेद प्रकाश भी थे. पहले से घात लगाए बैठे माओवादियों ने पेट्रोलिंग टीम पर फायरिंग की. इसी दौरान हवलदार वेद प्रकाश की गर्दन में गोली लग गई जिस वजह से वह शहीद हो गए. सैनिक टीम शहीद के पार्थिव शव लेकर गांव मोड़ी पहुंची. 18 वर्षीय बेटे आशीष और 15 वर्षीय बेटे अनुज ने उन्हें मुखाग्नि दी.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!