सावधान: कोरोना पॉजिटिव आने के बाद बीपीएल परिवारों के पास आ रहे हैं मैसेज, लोगों में फ्रोड का डर

महेन्द्रगढ़ | इस समय देश व प्रदेश में कोरोना की वजह से लोगों को मुसीबतों से जुझना पड़ रहा है. लोग कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए घरों में दुबके हुए हैं. गरीब व्यक्ति जो दिनभर कड़ी मेहनत करता है तब जाकर शाम को उसके घर चूल्हा जलता है. ऐसे में कोरोना महामारी की वजह से गरीब परिवारों को तो और भी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है. वहीं आपदा के इस अवसर पर भी कुछ शरारती या ठग प्रवृत्ति के लोग नए तरीके से ठगी करने के चक्कर में रहते हैं जबकि आम आदमी को अपनी जान बचाने के सिवाय कुछ नहीं दिखाई देता है.

यह भी पढ़े -   1500 फुट तक बोर पर भी नहीं निकलता पानी, अब युवाओं ने शुरू की नई पहल

corona checkup

कोरोना के इस दौर में लोगों को ठगने का धंधा तेजी से फल-फूल रहा है और ठग प्रवृत्ति के लोग रोज लोगों को ठगने के नए तरीके इजाद कर रहे हैं. कुछ शातिर किस्म के ठग तो साईबर सेल की पकड़ में भी नहीं आ रहे हैं. ऐसा ही कुछ ठगी करने का तरीका क्षेत्र के लोगों के सामने आया है. यहां कोरोना पाज़िटिव हो चुके बीपीएल परिवारों के फोन में एक मैसेज आ रहा है कि आपको सरकार की तरफ से उपयुक्त सहायता दी जाएगी.आपको अपना आधार कार्ड नंबर या फैमिली आईडी दस्तावेज भेजने के लिए एक नामजद मोबाइल नंबर पर मैसेज भेज दें. लेकिन इन परिवारों के मन में डर बना हुआ है कि इन नंबरों पर दस्तावेज भेजें या नहीं.

हालांकि सरकार की तरफ से आदेश दिए गए हैं कि बीपीएल परिवारों के कोरोना पाज़िटिव मरीजों का सारा खर्च वहन किया जाएगा. मगर लोगों का यें भी कहना है कि प्रशासन की तरफ से कोई नोटिस तो उनके पास नहीं भेजा गया है. अब वे उलझन में हैं कि करें भी तो क्या करें. हालांकि कुछ लोगों ने इन नंबरों पर दस्तावेज भेज दिए हैं लेकिन अब उनको इस बात का डर सता रहा है कि उनके साथ कुछ ग़लत ना हो जाए.

यह भी पढ़े -   राशन डिपो पर मिलेगा जनरल स्टोर का सामान, दुष्यंत चौटाला ने शुरू किया पायलट प्रोजेक्ट

एक पीड़ित ने कहा कि उसने अखबार में पढ़ा था कि सरकार बीपीएल परिवारों के कोरोना पाज़िटिव मरीजों का खर्च उठाएगी. लेकिन इस तरीके से कोई मोबाइल नंबर देकर ज़रुरी दस्तावेज मंगवाता है तो उस व्यक्ति पर किस प्रकार भरोसा किया जा सकता है.
यह लिखा आता है मैसेज में

यह भी पढ़े -   कोरोना की तीसरी लहर का बच्चों पर कितना पड़ेगा दुष्प्रभाव, WHO और AIIMS ने किया सर्वे, जानें नतीजे

मैसेज में संक्रमित व्यक्ति के नाम के साथ पाज़िटिव होने की तिथि. उपयुक्त सरकारी सहायता का लाभ लेने हेतु संक्रमित व्यक्ति का आधार कार्ड नंबर या फैमिली आईडी निम्न फार्मेट में 7419865000 पर मैसेज करें.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!