अनिल विज का बयान- हम नहीं चाहते थे लॉकडाउन लगाया जाए, लेकिन इसलिए लगाना पड़ा

अंबाला । हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने लोगों को लॉकडाउन के नियमों का पालन करने की सलाह दी. उन्होंने कहा कि लोगों को अपने अपने घरों में रहना चाहिए. अनिल विज ने स्पष्ट किया कि उनकी सरकार नहीं चाहती थी कि लॉकडाउन लगाया जाए लेकिन रोजाना बढ़ते हुए कोरोना संक्रमण के मामलों सरकार को ऐसा कदम उठाने पर मजबूर किया. साथ ही साथ उन्होंने यह भी कहा कि यदि लोग कोविड-19 के नियमों का पालन करते तो लॉकडाउन नहीं लगाना पड़ता. मजबूरीवश सरकार को ऐसा सख्त कदम उठाना पड़ा.

यह भी पढ़े -   हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला, लॉकडाउन अवधि में घर ही मिलेगा राशन

Anil Vij

लॉकडाउन ही था अंतिम विकल्प

श्री अनिल विज ने बताया कि सरकार ने कई प्रयास किए लेकिन नियमों की पालना नहीं हुई जिसके कारण कोरोना संक्रमण के मामले दिनों दिन बढ़ते गए. आज हालात ऐसे हैं कि प्रदेश में 1 लाख से भी ज्यादा एक्टिव केस हैं. कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए लॉकडाउन एकमात्र और अंतिम विकल्प था क्योंकि प्रतिदिन 15 हज़ार नए मरीज जुड़ रहे थे. श्री अनिल विज ने लोगों को घरों में सुरक्षित रहने की सलाह दी.

यह भी पढ़े -   जेल में कोरोना ने मचाया तांडव, 294 कैदी हुए कोरोना पॉजिटिव, कई कैदियों की रिपोर्ट बाकी

गौरतलब है कि हरियाणा में 3 से 9 मई तक 1 सप्ताह का संपूर्ण लॉकडाउन लगा दिया है. ऐसे में पुलिस जुटी हुई है. अलग-अलग जगह से प्राप्त जानकारी के अनुसार छुटपुट घटनाओं को छोड़कर सभी शहरों की सड़कों पर सन्नाटा छाया हुआ है. हर मुख्य नाकों पर पुलिस तैनात है. सिर्फ जरूरतमंद लोगों को ही आने जाने की छूट दी जा रही है. पास दिखाए जाने या पूछताछ करने के बाद ही लोगों को आवागमन करने की अनुमति दी जा रही है. कोरोना चेन को तोड़ने के लिए लॉकडाउन में किसी भी तरीके की लापरवाही ना हो इसके लिए अधिकारी भी मुस्तैद हैं.

यह भी पढ़े -   अस्पताल की तीसरी मजिल से कूदे बिजली विभाग के पूर्व एसडीओ, थे कोरोना संक्रमित

इन इलाकों में नजर आई ज्यादा सख़्ती

प्राप्त जानकारी के अनुसार जी टी बेल्ट और एनसीआर में आने वाले जिलों के अतिरिक्त हिसार जोन में हिसार, फतेहाबाद,सिरसा, रोहतक व गुरुग्राम में संक्रमण के मामले ज्यादा मिलने के कारण अतिरिक्त सख्ती दिखाई जा रही है. हालांकि अब की बार लॉकडाउन में बीते साल के मुकाबले कुछ ज्यादा छूट दी गई है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!