वैक्सीन लगवाने से 48 घंटे पहले व बाद में न करे ये काम, नहीं तो बाद में पड़ सकता है पछताना

चंडीगढ़ । अगर आप कोरोना महामारी से बचाव हेतु वैक्सीन लगवाने जा रहें हों तो इस बात का ख्याल रखे कि वैक्सीन लगवाने से 48 घंटे पहले आप शराब का सेवन ना करें. वहीं वैक्सीन लगवाने के 48 घंटे बाद तक भी आप को इस बात का पालन करना होगा. पंजाब में कोविड रिव्यू कमेटी के चेयरमैन के अनुसार अगर आप इस दौरान शराब का सेवन करते हैं तो वैक्सीन शायद उतनी प्रभावी ढंग से आपकी रक्षा न कर पाए, जितनी करनी चाहिए.

CORONA

डॉ तलवाड़ ने बताया कि शराब पीने से हमारे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है. ऐसे में जब हम वैक्सीन लगवाते हैं तो उसका असर कम देखने को मिल सकता है. वहीं कोरोनावायरस को लेकर डॉ तलवाड़ ने दावा किया कि अगर सभी लोग केवल मास्क पहनना शुरू कर दें तो एक महीने के अंदर यह वायरस खत्म हो जाएगा.

डॉ तलवाड़ ने बताया कि लोग लापरवाही की वजह से इस वायरस की चपेट में ज्यादा आ रहे हैं. यह एक साइंटिफिक प्रमाणित हैं कि मास्क पहनने से 70 फीसदी तक हमारे पॉजिटिव होने की संभावना कम हो जाती है. अगर सभी लोग मास्क पहने व कोरोना गाइडलाइंस का पालन करें तो एक महीने के भीतर हम इस महामारी से जंग जीतने में कामयाब हो सकतें हैं.
पंजाब में कोरोना की लहर चरम सीमा पर है. डॉ तलवाड़ ने बताया कि पहली लहर में जहां 3000 औसतन केस सामने आएं थे , वहीं दूसरी लहर में 7000 के करीब केस दर्ज हो रहे हैं.

यह भी पढ़े -   कोरोना की तीसरी लहर का बच्चों पर कितना पड़ेगा दुष्प्रभाव, WHO और AIIMS ने किया सर्वे, जानें नतीजे

आंकड़ों के मुताबिक कोरोना अब अपने पीक पर है. डॉ तलवाड़ ने संभावना जताई है कि आने वाले दो सप्ताह में केसों में कमी आ सकती है. डॉ तलवाड़ ने देश में बनी दोनों वैक्सीन को सुरक्षित बताया और कहा कि चाहे कोविशीलड हो या कोवा वैक्सीन दोनों का परिणाम 78 फीसदी के करीब है. बस हमें 48 घंटे पहले और 48 घंटे बाद तक शराब के सेवन से बचना है ताकि वैक्सीन पूर्ण रूप से अपना काम कर सकें.

यह भी पढ़े -   15 जून से हरियाणा में सीरो-सर्वे की शुरुआत, 6 साल से ऊपर के बच्चों का भी होगा ब्लड टेस्ट

पूर्ण लाकडाउन लगाएं जाने के संबंध में पुछे गए सवाल पर डॉ तलवाड़ ने कहा कि कोई भी सरकार जनता पर इस तरह प्रतिबंध लागू करने के हक में नहीं होती. लेकिन लोगों को यह समझना चाहिए कि वायरस का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है. लोगों की जानें जा रही है. जितनी तेजी से संक्रमण बढ़ रहा है , मृत्यु दर भी बढ़ रही है. जो भी परिवार इस महामारी की वजह से अपने परिवार के सदस्य को खो देता है,उस पर क्या बीतेगी वो सिर्फ वही समझ सकता है.

यह भी पढ़े -   कोरोना के समय सुर्खियों में रहे गांव टिटौली में फिर होने लगी हंसी- ठिठोली

डॉ तलवाड़ ने कहा कि महामारी की वजह से इतनी भयंकर त्रासदी हो रही है लेकिन लोग अब भी नहीं समझ रहे हैं. जवान लोग भी इस महामारी की वजह से अपनी जान गंवा रहे हैं. अस्पताल में मरीजों को आक्सीजन व वेंटिलेटर नहीं मिल रहें हैं. डॉ तलवाड़ ने कहा कि आप जितना मर्जी इन्फ्रास्ट्रक्चर खड़ा कर लें ,जब तक संक्रमित केसों की संख्या में कमी नहीं आएगी, अस्पताल छोटे हो ही जाएंगे. हमें अस्पतालों में व्यवस्था बढ़ाने के साथ-साथ मरीजों की संख्या में कमी लानी होगी और ये तभी संभव हो सकेंगा जब हम कोविड प्रोटोकॉल का सही ढंग से पालन करेंगे. आम आदमी को जागरुकता दिखाते हुए बीमारी के खिलाफ लड़ने के लिए आगे आना होगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!