BSF का डिप्टी कमांडेंट बना नटवरलाल, देश की सबसे बड़ी सुरक्षा एजेंसी के नाम पर 125 करोड़ की ठगी

गुरुग्राम । राष्ट्रीय राजधानी से सटे गुरुग्राम से करोड़ों की ठगी का मामला सामने आया है. यहां BSF के डिप्टी कमांडेंट ने देश की सबसे बड़ी सुरक्षा एजेंसी एनएसजी के नाम पर 125 करोड़ रुपए की ठगी को अंजाम दिया है. आरोपी प्रवीण यादव एनएसजी कैंपस में कंस्ट्रक्शन वर्क दिलवाने के नाम पर लोगों को ठगी का शिकार बनाता था. इस मामले में गुरुग्राम पुलिस ने आरोपी प्रवीण यादव समेत 4 लोगों को गिरफ्तार किया है. जिसमें आरोपी प्रवीण, उसकी पत्नी, उसकी बहन और आरोपी का एक दोस्त शामिल हैं.

यह भी पढ़े -   करनाल के बस स्टैंड पर दो गुटों में हुआ जमीनी विवाद की वजह से झगड़ा, झगड़े में बरसी ईटे

Fraud Image

गुरुग्राम एसीपी क्राइम प्रीतपाल सिंह ने बताया कि आरोपी शख्स स्टॉक मार्केट में पैसे लगाता था जहां उसे 60 लाख रुपए का घाटा उठाना पड़ा. आरोपी ने इस घाटे को पूरा करने के लिए एनएसजी कैंपस में कंस्ट्रक्शन वर्क दिलवाने के नाम पर कई लोगों से 125 करोड़ रुपए ऐंठ लिए. इस ठगी का पर्दाफाश तब हुआ जब एक पीड़ित ने अपने साथ हुई ठगी की शिकायत पुलिस में दर्ज करवाई.

पुलिस ने बताया कि आरोपी शख्स द्वारा ठगे गए 125 करोड़ रुपए में से 13 करोड़ रुपए बरामद कर लिए गए हैं. मगर बड़ा सवाल यह खड़ा हो रहा है कि आरोपी ने कैसे फर्जी एनएसजी अकाउंट बनाया और उसके बाद लंबे समय तक लोगों को ठगी का शिकार बनाता रहा.

यह भी पढ़े -   करनाल के बस स्टैंड पर दो गुटों में हुआ जमीनी विवाद की वजह से झगड़ा, झगड़े में बरसी ईटे

हैरान कर देने वाली बात यह है कि इतने बड़े पैमाने पर ठगी के मामले की किसी को कानों-कान खबर तक नहीं हुई. पुलिस का कहना है कि अधिकारियों की मिलीभगत के बिना इतने बड़े मामले को अंजाम नहीं दिया जा सकता है. फिलहाल गुरुग्राम पुलिस आरोपी शख्स प्रवीण यादव से पूछताछ कर रही है ताकि पूरी कहानी साफ हो सकें और मामले की तह तक पहुंचा जा सके.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!