हरियाणा का पहला ऑक्सीजन जोन विलेज पार्क बनेगा हिसार के तलवंडी राणा में, चारों ओर होगी हरियाली

Casino

हिसार | ग्रामीण क्षेत्रों में पौधारोपण को नई दिशा देने के लिए निकटवर्ती गांव तलवंडी राणा में हरियाणा का पहला ऑक्सीजन जोन बनाया जाएगा. वो भी बिना किसी सरकारी सहयोग के. इस मॉडल को राह ग्रुप फाउंडेशन की ओर से तत्वावधान में तीन चरणों में कार्य रूप दिया जाएगा. जिसमें राह ग्रुप फाउंडेशन की ओर से गांव तलवंडी राणा की शमशान भूमि में करीब 7 एकड़ में 1,000 से अधिक औषधीय, छायादार व फलदार पौधे रोपित किए जाएंगे.

Park

यह जानकारी देते हुए राह ग्रुप फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश सेलपाड, राह क्लब हिसार के अध्यक्ष सूर्यकांत शर्मा व तलवंडी राणा ऑक्सीजन विलेज कमेटी के संयोजक सारदुल वर्मा के अनुसार तलवंडी राणा गांव की शमशान भूमि में बरगद, पीपल, नीम, पील/जाल, कदम, शीशम, आंवला, अमलतास, जाटी, कनेर, चांदनी, गूगल बेल, अर्जुन, अमरूद, आम, जामुन, एलोवेरा, तुलसी, गिलोय इत्यादि के 1000 पौधे लगवाए जाएंगे.

राह संस्था के चेयरमैन नरेश सेलपाड़ के अनुसार पहले वे दूसरे चरण में जहां पौधारोपण किया जाएगा. वहीं तीसरे चरण में यहां एक पार्क का निर्माण भी किया जाएगा. उनके अनुसार इस पार्क का निर्माण व विकास ग्रामीणों व राह संस्था के प्रयासों से ही किया जा रहा है. इसमें सरकार का कोई योगदान व सहयोग नहीं लिया गया है. उन्होंने बताया है कि इस परियोजना का शुभारंभ 4 जुलाई रविवार को होगा.

यह भी पढ़े -   कंडेला गांव दोबारा चर्चाओं में, बारिश के बीच जुगाड़ कर कर बनाई गई शेड, फिर हुआ अंतिम संस्कार

वन संरक्षण कमेटी करेगी देख-रेख

राह ग्रुप फाउंडेशन की ओर से विकसित किए जाने वाले प्रदेश के इस पहले ऑक्सीजन जोन विलेज पार्क की देख-रेख के लिए गांव के 21 युवाओं की एक कमेटी बनाई जाएगी. यह कमेटी इन पौधों को लगाने से लेकर पानी देने व इनकी रखवाली का काम करेगी.

यह भी पढ़े -   कर्मचारियों को पक्का करने की आवाज उठाने वाले नायब तहसीलदार को किया ब्लैकमेल, जानिए पूरा मामला

पुराने पौधों का भी होगा संरक्षण

ऑक्सीजन जोन विलेज कमेटी संयोजक डॉ. सीताराम जागड़ा व डॉ. रामफल वर्मा के अनुसार तलवंडी राणा गांव के श्मशान घाट में पहले से लगे पौधों को भी नया आकार प्रदान कर सुंदर बनाया जाएगा. जिसमें पुरानी कीकर व जाल व दूसरे पौधों को सफेदी करके या दूसरे प्रकार से संरक्षित किया जाएगा.

मटका थेरेपी रहेगी आकर्षण का केंद्र

इस ऑक्सीजन जोन पार्क में उपयोग होने वाली मटका थेरेपी विशेष आकर्षण का केंद्र रहेगी. इस तकनीक से बेहद कम पानी की मात्रा का उपयोग करते हुए पौधों को लंबे समय तक सिंचित किया जा सकता है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में अगस्त की शुरुआत बारिश के साथ, अगले 3 घंटों में इन जिलों में भारी बारिश की संभावना

हर शुभ अवसर पर पौधों को देंगे पानी

हरियाणा प्रदेश के पहले इस ऑक्सीजन जोन विलेज पार्क के विकास में सभी ग्रामीण मिलकर सहयोग करेंगे. राह संस्था के चेयरमैन नरेश सेलपाड के अनुसार गांव में वैवाहिक रस्मों, अपने बच्चों के जन्मदिन, वैवाहिक वर्षगांठ या इसी प्रकार के दूसरे शुभ अवसरों पर ग्रामीण इन पौधों में पानी देने के लिए एक टैंकर पानी का सहयोग करेंगे. इसके लिए अवसर विशेष को यादगार बनाने के लिए वन संरक्षण कमेटी विशेष व्यवस्था भी करेगी.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!