आज मनाई जा रही है हरतालिका तीज, 15 साल बात बन रहा है यह खास योग

ज्योतिष | हिंदू पंचांग के अनुसार हरतालिका तीज का व्रत भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाया जाता है. बता दें कि आज हरतालिका तीज मनाई जा रही है. अबकी बार 15 सालों के बाद हरतालिका तीज पर विशेष योग बन रहा है. ज्योतिष शास्त्रों के अनुसार मान्यता है कि इस योग में व्रत और पूजन करने से सुहागन महिलाओं की हर मनोकामना पूरी होती है. हरतालिका तीज को हरियाली और कजरी तीज के बाद मनाया जाता है. इस तीज पर भगवान शिव और माता पार्वती की विधि विधान से पूजा की जाती है, जिससे भक्तों के सभी कष्ट दूर हो जाते हैं.

Jyotish Rashi Grah

इस शुभ मुहूर्त पर करें पूजा 

उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र की वजह से अबकी बार हरतालिका तीज पर 15 साल बाद विशेष योग बन रहा है. अबकी बार तीज 29 अगस्त को शाम 3:20 से शुरू होकर अगले दिन 30 अगस्त को दिन के 3:33 तक रहेगी. आज हरतालिका तीज का व्रत रखा जाएगा. हरतालिका तीज पर सुहागन महिलाएं अपने पति की लंबी आयु और सुख- समृद्धि की कामना के लिए निराहार और निर्जला व्रत रखती है. इस व्रत में महिलाओं को कुछ भी नहीं खाना होता, ना ही पानी पीना होता है. हिंदू धर्म में हरतालिका तीज के व्रत को सबसे कठिन माना जाता है.

इस प्रकार करे हरतालिका तीज पर पूजा  

  •  हरतालिका तीज में भगवान श्री गणेश, भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा की जाती है.
  •  सबसे पहले पूजा करने के लिए मिट्टी से तीनों की प्रतिमा बनाएं और भगवान गणेश को तिलक करके दूर्वा अर्पित करें.
  •  तीनों देवताओं को वस्त्र अर्पित करें और हरतालिका तीज व्रत की कथा सुने.
  •  इसके बाद भगवान श्री गणेश की आरती शुरू करें और भगवान शिव और पार्वती की आरती उतारने के बाद उन्हें भोग लगाएं.
  •  भगवान शिव को फूल, बेलपत्र और शमी पत्र अर्पित करें और माता पार्वती को श्रृंगार का सामान अर्पित करें
यह भी पढ़े -   आज से शुरू हो रहे हैं इन राशि के जातकों के अच्छे दिन, जानिये सप्ताहिक राशिफल

इस व्रत को करते समय इन बातों का रखें विशेष ध्यान

  • हरतालिका तीज पर तृतीया तिथि में ही पूजन करना होता है.
  • नवविवाहिताए पहले इस व्रत को जिस तरह रखे, हमेशा उन्हें इसी प्रकार ही इस व्रत को रखना होगा. इसलिए आप जिन भी नियमों का पालन करें उन्हें ध्यान रखें, आपको हमेशा वैसे ही व्रत करना है.
  • इस व्रत में आपको भूलकर भी सोना नहीं चाहिए. इस व्रत में सोने की मनाही होती है. व्रत रखने वाली महिलाओं को रात भर जाकर भगवान शिव का स्मरण करना चाहिए.
  • तीज के व्रत में अन्न, जल, फल 24 घंटे तक कुछ भी नहीं खाना होता. इसलिए इस व्रत का श्रद्धा पूर्वक पालन करना चाहिए.
यह भी पढ़े -   नवरात्री में हवन के बिना अधूरी होती है पूजा, इस प्रकार करें शारदीय नवरात्री में हवन

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!