कैथल के फल्गु तीर्थ पर होगा ऑनलाइन पिंडदान, गया में पुरोहित कराएगा कर्म

कुरुक्षेत्र । फल्गु तीर्थ फरल से ऑनलाइन पिंडदान किए जा सकेंगे. इसको लेकर कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड और फल्गु मंदिर प्रबंधक सयुंक्त रुप से आगे आए हैं. कुरुक्षेत्र क्षेत्र विकास बोर्ड द्वारा इसकी जानकारी वेबसाइट पर दी गई. 12 अप्रैल सोमवती अमावस के पावन दिन पर इस वेबसाइट को लांच किया जाएगा. बता दे कि इस दिन फल्गु मंदिर धर्मशाला से ही ऑनलाइन पितृ कर्म का कार्य शुरू किया जायेगा. मान्यता है कि सोमवार के दिन जो भी यहां पितरों का श्राद्ध करता है, वह नित्य ही पितरो को प्रसन्न करता है.

यह भी पढ़े -   15 मई से पहले धान की बिजाई ना करें किसान, वर्ना होगी कार्रवाई

samoti amawas 2021

अब ऑनलाइन करा सकेंगे पिंडदान 

कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड के मानाद सचिव मदन मोहन छाबड़ा ने बताया कि बोर्ड का उद्देश्य कुरुक्षेत्र के तीर्थों का समुचित विकास और प्रचार प्रसार करना है. बोर्ड फल्गु तीर्थ के वैश्विक स्तर पर प्रचार प्रसार में भूमिका निभाएगा. कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड के अंतर्गत 48 कोस कुरुक्षेत्र आता है. इसमें कुरुक्षेत्र, कैथल, करनाल, जींद, पानीपत जिलों के 134 तीर्थ क्षेत्र आते हैं. वामन पुराण और महाभारत के अनुसार कुरुक्षेत्र धरा पर 7 वन और 9 नदियां थी. वही फल्गु मंदिर के पुजारी जय गोपाल शर्मा ने बताया कि सोमवती अमावस्या पर वेबसाइट जारी की जाएगी.

यह भी पढ़े -   15 मई से पहले धान की बिजाई ना करें किसान, वर्ना होगी कार्रवाई

इसमें मुख्य अतिथि लंदन से प्रसिद्ध रेडियो कलाकार रवि शर्मा ऑनलाइन शामिल होंगे. इस कार्यक्रम की अध्यक्षता कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड के मानाद सचिव मदन मोहन छाबड़ा करेंगे. वहीं ऑनलाइन पितर कर्म के लिए लुधियाना से अमित गोयल यजमान होंगे. आचार्य विनायक को कैथल से भी आमंत्रित किया गया है.कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड से उपेंद्र सिंघल का इसमें विशेष योगदान रहा है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!