हरियाणा में गुरनाम चढूनी ने बढ़ाई दूसरी पार्टियों की टेंशन, विधानसभा चुनाव को लेकर कर दिया ये ऐलान

कुरूक्षेत्र | हरियाणा में एक और पार्टी ने विधानसभा चुनाव (Vidhan Sabha Chunav) के लिए बिगुल बजा दिया है. भारतीय किसान यूनियन (चढूनी) के अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा है कि इस साल अक्टूबर महीने में होने वाले हरियाणा विधानसभा चुनाव चढूनी और उनके साथी संयुक्त संघर्ष पार्टी के बैनर तले सभी 90 विधानसभा सीटों पर लड़ेंगे. वो खुद भी कुरुक्षेत्र की पिहोवा विधानसभा सीट से चुनाव लड़ सकते हैं.

Gurnam Chadhuni

चुनावी रण में कामयाबी से दूर

गुरनाम सिंह चढूनी ने संयुक्त संघर्ष पार्टी नाम से साल 2021 में अपनी राजनीतिक पार्टी की शुरुआत की थी. साल 2022 में हुए पंजाब विधानसभा चुनाव में उनकी पार्टी ने चुनावी रण में ताल ठोकी थी. इस चुनाव में संयुक्त संघर्ष पार्टी ने कुल 10 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारे थे, लेकिन सभी जगहों पर हार का मुंह देखना पड़ा था.

दूसरी पार्टियों की बढ़ेगी टेंशन

उन्होंने बतौर निर्दलीय प्रत्याशी हरियाणा में भी विधानसभा चुनाव लड़ा था, लेकिन चुनाव में उन्हें हार का सामना करना पड़ा था. वहीं, इससे पहले आम आदमी पार्टी ने साल 2019 में उन्हें लोकसभा चुनाव का टिकट दिया था. हालांकि, ये चुनाव भी वो हार गए थे. अब एक बार फिर से वे चुनावी मैदान में किस्मत आजमाएंगे. उनके ऐलान से दूसरी पार्टियों की टेंशन जरूर बढ़ जाएगी.

गुरनाम चढूनी का परिचय

कुरुक्षेत्र निवासी 65 वर्षीय गुरनाम चढूनी ने साल 2008 में उन्होंने कृषि ऋण माफी के लिए एक अभियान का सफलतापूर्वक नेतृत्व किया था. इसके बाद, उन्होंने साल 2019 में किसानों के साथ सरकार से उनकी सूरजमुखी की फसल खरीदने की मांग का विरोध किया. उन्होंने 2020- 2021 के बीच हुए किसान आंदोलन में भी एक अहम भूमिका निभाई थी. इस आंदोलन ने उनकी पहचान एक बड़े किसान नेता के रूप में उभर कर सामने आई थी.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!