मन की बात: पीएम मोदी ने किया जल संरक्षण और आर्थिक स्वच्छता का जिक्र, जानिए प्रधानमंत्री द्वारा कही गई बड़ी बातें

PM Modi Man Ki Baat: नई दिल्ली | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज सुबह 11:00 बजे मन की बात रेडियो कार्यक्रम के जरिए देश को संबोधित किया. मन की बात (Mann ki Baat) कार्यक्रम का यह 81वां एपिसोड है. इस दौरान प्रधानमंत्री ने कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर अपने विचार रखे और देशवासियों को जल संरक्षण, स्वच्छता अभियान के लिए प्रेरित किया.

man ki bat live

मन की बात कार्यक्रम के शुरुआत में प्रधानमंत्री ने विश्व नदी दिवस का जिक्र किया. देशवासियों को नदियों के बचाव करने का आह्वान किया. उन्होंने कहा कि हमारे लिये नदियाँ एक भौतिक वस्तु नहीं है, हमारे लिए नदी एक जीवंत इकाई है. तभी तो, तभी तो हम, नदियों को माँ कहते हैं. हर नदी के पास रहने वाले लोगों को, देशवाशियों को मैं आग्रह करूँगा कि भारत में, कोने-कोने में साल में एक बार तो नदी उत्सव मनाना ही चाहिए. पीएम मोदी ने साबरमती नदी, तमिलनाडु के वेल्लोर और तिरुवन्नामलाई जिले की नदियों की सफाई का उदाहरण भी दिया.

यह भी पढ़े -   बर्बाद: हरियाणा के किसानों को बारिश की मार, मंडियों में भीगी धान की फसल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वच्छता की बात करते हुए महात्मा गांधी का जिक्र किया. उन्होंने कहा कि महात्मा गाँधी ने स्वच्छता को स्वाधीनता के सपने के साथ जोड़ दिया था. आज इतने दशकों बाद, स्वच्छता आन्दोलन ने एक बार फिर देश को नए भारत के सपने के साथ जोड़ने का काम किया है. प्रधानमंत्री ने एक कार्यक्रम के दौरान डिजिटल लेनदेन की भी बात कही. उन्होंने कहा आज जनधन खातों की बदौलत गरीबों को उनके हक का पैसा सीधा, सीधा उनके खाते में जा रहा है जिसके कारण भ्रष्टाचार जैसे रुकावटों में बहुत बड़ी मात्रा में कमी आई है. ये बात सही है आर्थिक स्वच्छता में टेक्नोलॉजी बहुत मदद कर सकती है.

pm modi

प्रधानमंत्री ने देशवासियों को खादी को भी अपनाने का आग्रह किया. उन्होंने कहा कि आज पूरा देश खादी को गर्व से अपना रहा है, आज खादी और हैंडलूम का उत्पादन कई गुना बढ़ा है और उसकी मांग भी बढ़ी है. दिल्ली में खादी के शोरूम करोड़ों का व्यापार कर रहे हैं. पीएम मोदी ने सियाचिन फतह करने वाले आठ दिव्यांग जनों की सराहना की. उन्होंने कहा, मैं इस ऐतिहासिक और अभूतपूर्व उपलब्धि के लिए इस टीम की सराहना करता हूँ. शरीर की चुनौतियों के बावजूद भी हमारे इन दिव्यांगों ने जो कारनामा कर दिखाया है वो पूरे देश के लिए प्रेरणा है.

यह भी पढ़े -   देश मे नहीं थम रहे डेंगू और वायरल के मामले, इन राज्यों में है सबसे ज्यादा मरीज

पीएम मोदी ने कोविड-19 का जिक्र करते हुए कहा कि आज हम लोगों की ज़िन्दगी का हाल ये है कि एक दिन में सैकड़ों बार कोरोना शब्द हमारे कान पर गूंजता है, सौ साल में आई सबसे बड़ी वैश्विक महामारी, COVID-19 ने हर देशवासी को बहुत कुछ सिखाया है. उन्होंने संपूर्ण देशवासियों को कोरोना वैक्सीन लगाने के लिए कहा और वैक्सीन लगा चुके लोगों को कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए आग्रह किया. प्रधानमंत्री ने युवाओं को हर्बल उत्पादों को प्रयोग करने की अपील की और कहा कि इससे हमारे किसानों और नौजवानों की आय को भी बढ़ाने में मददगार साबित हो.

यह भी पढ़े -   खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम ने लिए 5 खाद्य पदार्थों के नमूने, तहसीलदार के नेतृत्व में गठित टीम ने लिए सेम्पल

प्रधानमंत्री ने 25 सितंबर को होने वाले पंडित दीनदयाल उपाध्याय जयंती के बारे में कहा कि दीनदयाल जी, पिछली सदी के सबसे बड़े विचारकों में से एक हैं. पीएम मोदी ने आने वाले त्योहारों का भी जिक्र किया और कहा कि आप सभी को, हर देशवासी को, त्यौहारों की बहुत-बहुत शुभकामनाएँ. उन्होंने इस बात का भी जिक्र किया कि त्योहारों के साथ हमें उत्सव में हमें एक और लड़ाई के बारे में याद रखना है- वो है देश की कोरोना से लड़ाई. हमें अपनी बारी आने पर वैक्सीन तो लगवानी ही है पर इस बात का भी ध्यान रखना है कि कोई इस सुरक्षा चक्र से छूट ना जाए.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!