‘नरेंद्र मोदी स्टेडियम’ हुआ दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट मैदान का नाम

अहमदाबाद | वर्तमान सरकार में ऐतिहासिक इमारतों, शहरों, स्टेडियम इत्यादि के नाम बदलना आम बात हो गयी है. इसी तर्ज पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दुनिया के सबसे बड़े खेल स्टेडियम मोटेरा का नाम बदलकर नरेंद्र मोदी स्टेडियम कर दिया है. इसका ऐलान स्टेडियम के उद्घाटन समारोह में किया गया.

MODI

क्या हैं स्टेडियम की वो खासियत जो इसे औरों से अलग बनाती है?

उन्होंने बताया कि इस स्टेडियम में ऐसी सुविधाएं हैं कि आने वाले 6 महीने में ओलंपिक, एशियाड और कॉमनवेल्थ जैसे खेल यहां आयोजित किये जा सकते हैं. बातचीत के दौरान उन्होंने बताया कि अहमदाबाद को अब स्पोर्ट्स सिटी के नाम से जाना जाएगा जिसका सपना नरेंद्र मोदी ने बतौर गुजरात सीएम देखा था. जो अब पूरा हो गया है. इसके अलावा इस नए स्टेडियम को दुनिया के सबसे बड़े व हाइटेक स्टेडियम के रूप में तैयार किया गया है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा रोडवेज को लेकर परिवहन मंत्री ने दिया बड़ा बयान, बंद नहीं की जाएंगी बसें

मुख्य विष

जानकारी के मुताबिक इस स्टेडियम की दर्शक क्षमता 1,32,000 है. हालांकि मोटेरा से पहले मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम था, परन्तु अब इसका स्थान नरेन्द्र मोदी स्टेडियम ने ले लिया है. दुनिया का सबसे बड़ा खेल स्टेडियम 63 एकड़ में फैला हुआ है जिसे विकसित करने में लगभग 800 करोड़ रुपये का खर्च आया है. खास बात यह है कि इस स्टेडियम में चार ड्रेसिंग रूम हैं. अतः एक साथ चार ड्रेसिंग रूम वाला यह दुनिया का पहला स्टेडियम है, जो इतनी सुविधाएं उपलब्ध करवाता है.

यह भी पढ़े -   लॉकडाउन के बीच दुकानें खोलने की मिली परमीशन, तय समय में लेफ्ट-राइट फॉर्मूले के तहत खुलेंगी दुकानें

इसकी सबसे खास बात यह है कि बारिश होने के महज आधे घंटे में फिर से खेल शुरू हो सकता है, क्योंकि यहां बारिश का पानी निकालने के लिए अत्यंत आधुनिक तकनीक अपनाई गई है.इसके अलावा डे-नाइट मैच के लिए भी एलईडी लाइट का प्रबंध किया गया है.

प्रेस सूचना ब्यूरो द्वारा जारी सूचना में बताया गया है कि, ‘यह स्टेडियम ओलंपिक आकार के 32 फुटबॉल स्टेडियम के बराबर है.जानकारी के लिए बता दें कि इस स्टेडियम को 2015 में पुनर्निर्माण के लिए बंद कर दिया गया था.

यह भी पढ़े -   येलो अलर्ट जारी: हरियाणा में आज फिर बदलेगा मौसम, गरज चमक के साथ होगी बूंदाबांदी

इसके निर्माण के समय एमसीजी की डिजाइन बनाने वाले ऑस्ट्रेलियाई आर्किटेक्ट फर्म पीपल्स जैसे अन्य कई विशेषज्ञ शामिल थे. इस स्टेडियम में लाल व काली मिट्टी से 11 पिचें तैयार की गई हैं . अतः यह दुनिया का पहला ऐसा मैदान है जिसमें मुख्य और अभ्यास पिचों पर एक सी मिट्टी है.गौरतलब है कि इस स्टेडियम की शुरुआत कल भारत व इंग्लैंड के बीच टेस्ट सीरीज के तीसरे मैच से हुई है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!