Bank Privatisation: सितम्बर महीने में बिकने वाला है यह सरकारी बैंक, तैयारियां शुरू

नई दिल्ली, Bank Privatization | सरकार निजीकरण की ओर तेजी से आगे बढ़ रही है, वही कर्मचारी लगातार इसका विरोध करने में लगे हुए हैं. इन सबके बावजूद सरकार ने अपना पक्ष स्पष्ट कर दिया है. इसी दिशा में अब सितम्बर महीने में IDBI बैंक के निजीकरण की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी. विभाग से संबंधित एक अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि केंद्र सरकार की तरफ से सितम्बर महीने के अंत तक बैंक के निजीकरण के लिए प्रारंभिक प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी.

यह भी पढ़े -   दिल्ली में पुरानी गाड़ी कबाड़ में बेचने पर होगी बल्ले-बल्ले, नई खरीदने पर मिलेगा भारी डिस्काउंट

Bank Image

जल्द बिकेगा यह सरकारी बैंक

निवेश और सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग ने अमेरिका में आईडीबीआई की बिक्री के लिए रोड शो किया था. केंद्र सरकार आईडीबीआई बैंक में अपनी हिस्सेदारी बेच सकती हैं. मौजूदा समय में सरकार और एलआईसी दोनों को जोड़ दे तो दोनों के पास इस बैंक की 94% हिस्सेदारी है. अभी तक इसका फैसला नहीं किया गया है कि कितने परसेंट हिस्सेदारी को भी बेचा जाएगा. मंत्रियों के समूह की तरफ से इसको लेकर अंतिम फैसला किया जाएगा.

सरकार और एलआईसी के पास है 94% हिस्सेदारी

आईडीबीआई बैंक में सरकार की 45.48% हिस्सेदारी है, वहीं दूसरी ओर एलआईसी की 49.24% हिस्सेदारी है. सरकार और एलआईसी आईडीबीआई बैंक में अपनी कुछ परसेंट हिस्सेदारी को बेचना चाहते है. उसके बाद खरीदारों को मैनेजमेंट कंट्रोल भी सौंप दिया जाएगा. आरबीआई की तरफ से 40% से ज्यादा हिस्सेदारी खरीदने को मंजूरी दी जा सकती है. सरकार ने इसके लिए कई कंपनियों की लिस्ट बनाई है जिनका निजीकरण किया जाएगा.

यह भी पढ़े -   आज होगा भारत VS साउथ अफ्रीका का दूसरा T20 मैच, इस मैदान पर रोहित शर्मा और कोहली बना चुके है रिकॉर्ड

इन कंपनियों का किया जाएगा निजीकरण

तकरीबन आधे दर्जन से अधिक सार्वजनिक कंपनियों की सूची तैयार कर ली गई है इसमें शिपिंग कॉर्प, कॉनकॉर, विजाग स्टील, आईडीबीआई बैंक, एनएमडीसी का नगरनार स्टील प्लांट और एचएलएल लाइफकेयर को शामिल किया गया है. इसके साथ ही सरकार चालू वित्त वर्ष 2022- 23 में अब तक सरकार केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों के विनिवेश से 24000 करोड रुपए से अधिक पैसा जुटा चुकी है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!