राहत: बच्चों की कोरोना वैक्सीन का रास्ता साफ, DGCI ने इस स्वदेशी टीके को दी मंजूरी

नई दिल्ली । कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन का खौफ देश-दुनिया के लिए फिर से मुश्किलें खड़ी करने का काम कर रहा है. लेकिन कोरोना की तीसरी लहर के बीच भारत के लिए अच्छी खबर निकलकर सामने आई है. बता दें कि DCGI ने भारत बायोटेक को 12 से 18 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए वैक्सीन के इमरजेंसी यूज की मंजूरी दे दी है. बता दें कि देश में ओमिक्रॉन लगातार पैर पसार रहा है और ऐसे में इसे राहत भरी खबर माना जा रहा है. माना जा रहा है कि कोरोना महामारी से बच्चों के बचाव हेतु यह वैक्सीन कारगर साबित हो सकती है.

यह भी पढ़े -   गणतंत्र दिवस पर जींद पहुंचे डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने किए बड़े ऐलान, इन क्षेत्रों में होगा औद्योगिक विकास

Corona Virus Vaccine

अक्टूबर में की थी सिफारिश

मिली जानकारी अनुसार सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी ने अक्टूबर में DGCI को बच्चों के लिए Covaxin का आपातकालीन उपयोग देने की सिफारिश की थी. भारत मे अब तक Covaxin की 15 करोड़ से ज्यादा डोज लग चुकी हैं.

दूसरी एप्रूव्ड वैक्सीन

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि Covaxin अब भारत में बच्चों के लिए इस्तेमाल की जाने वाली दूसरी एप्रूव्ड वैक्सीन है. इससे पहले अगस्त में, Zydus Cadila की तीन-खुराक DNA जैब को 12 वर्ष से अधिक उम्र के वयस्कों और बच्चों पर इस्तेमाल करने की अनुमति दी गई थी.

यह भी पढ़े -   हरियाणा के युवाओं के लिए रोजगार का अवसर, 30 हजार तक होगी सैलरी

कुछ ऐसी है सरकार की तैयारी

रिपोर्ट्स के मुताबिक बच्चों के लिए 2 कंपनियों की वैक्सीन के ट्रायल हो चुके हैं. पहले Zydus Cadila की जायकोव-डी है. यह 12 से 18 साल तक के बच्चों को दी जाएगी. दूसरी स्वदेशी कोवैक्सीन है जिसे कि भारत बायोटेक ने बनाया है. यह कंपनी 3 से 18 साल तक के किशोरों के लिए वैक्सीन बना रही हैं. लेकिन पहले जायकोव-डी वैक्सीन आएगी. हालांकि बच्चों से भी पहले इसे व्यस्कों पर लगाने की तैयारी है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!