भारत में ओमिक्रॉन का खतरा बढ़ा, जल्द लग सकते हैं कड़े प्रतिबंध

नई दिल्ली | देश में कोरोना के नए वैरिएंट के मामले बढ़ते जा रहे हैं. जिसको देखते हुए भारत में कड़े प्रतिबंध भी लगाए जाने की संभावना है. इसके संबंध में भारत सरकार ने सभी राज्यों को पत्थर भी लिखा है. केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने सभी राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों को पत्र लिखकर ओमिक्रॉन से बचाव करने के लिए कड़े कदम उठाने के निर्देश भी दिए हैं. आपको बता दें कि ओमिक्रॉन वैरिएंट के 200 से अधिक मामले आ चुके हैं.

corona checkup

जानिए विस्तार से

आपको बता दें कि राज्यों को लिखे गए पत्र में स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया कि “ओमिक्रॉन डेल्टा की तुलना में कम से कम 3 गुना अधिक संक्रामक है इसलिए स्थानीय और जिला स्तर पर और भी अधिक दूरदर्शिता, डेटा विश्लेषण, गतिशील निर्णय लेने और सख्त और त्वरित रोकथाम कार्रवाई की जरूरत है.” उन्होंने यह भी कहा कि डेल्टा अभी भी देश के विभिन्न भागों में मौजूद है. उन्होंने सभी  राज्यों से कहा है कि ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रतिबंध और निगरानी बढ़ाने की आवश्यकता है.

जिला स्तर पर प्रतिबंध लगाने की आवश्यकता

स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने यह भी कहा कि “वर्तमान वैज्ञानिक प्रमाणों के आधार पर वीओसी ओमिक्रॉन, डेल्टा वीओसी की तुलना में कम से कम 3 गुना अधिक संक्रामक है. डेल्टा वीओसी अभी भी देश के विभिन्न हिस्सों में मौजूद है. जिसके कारण स्थानीय और जिला स्तर पर अधिक दूरदर्शिता के साथ डेल्टा विश्लेषण तथा तेजी से निर्णय लेने और सख्त नियंत्रण करने की आवश्यकता है” इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि पिछले 1 सप्ताह में टेस्ट पॉजिटिविटी रेट 10% या उससे अधिक है और ऑक्सीजन समर्थित या आईसीयू बेड पर 40% तक का या उससे अधिक भरे हुए हैं आज जिला स्तर पर रोकथाम के उपाय और प्रतिबंध लगाए जाने चाहिए.

यह भी पढ़े -   Good News: रेल यात्रियों के लिए बड़ी खुशखबरी, सितंबर महीने से देश में दौड़ेंगी 23 ट्रेनें

जानिए ओमिक्रॉन की भारत में स्थिति

आपको बता दें कि अब भारत में भी कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन क्रोन का खतरा बढ़ता जा रहा है. ओमिक्रॉन से संक्रमितों के मामले भी देश के अधिकतर राज्यों में ज्यादा सामने आने लगे हैं. स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार सबसे ज्यादा ओमिक्रॉन के मामले महाराष्ट्र में सामने आए है. यहां पर अभी तक 32 ओमिक्रॉन के मामले पाए गए हैं. वही दूसरे नंबर पर राजस्थान बना हुआ है, किस राज्य में अभी तक संक्रमितों के 17 मामले मिले हैं. देश में अभी तक चार ऐसे राज्य हैं. जिनमें इस नए वैरिएंट के केवल 1-1 मामलों की ही पुष्टि की गई है. जिसमें बंगाल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और चंडीगढ़ शामिल है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!