हरियाणा में बिजली चोरों के खिलाफ मनोहर सरकार का हल्ला बोल, पकड़ी 500 करोड़ रुपए की चोरी

Casino

पंचकूला । हरियाणा सरकार ने बिजली चोरी करने वालों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है. प्रदेश में करीब 26 करोड़ यूनिट बिजली आपूर्ति के बीच बिजली चोरों के खिलाफ अब तक सबसे बड़ा हल्ला बोल किया गया है. मुख्यमंत्री व बिजली मंत्री के निर्देश पर बिजली विभाग की करीब 500 टीमों ने राज्य भर में दो दिन तक बड़ा अभियान चलाया. अभियान के तहत दो दिन के अंदर प्रदेश में करीब चार हजार स्थानों पर छापेमारी करते हुए लगभग 500 करोड़ रुपए की बिजली चोरी पकड़ने में सफलता हासिल की है.

Electricity Board

हर जिले में चला दो दिन का व्यापक स्तर पर अभियान

गर्मियों में बीते कुछ दिनों से प्रदेश में एकाएक बिजली की खपत बढ़ गई और डिमांड ज्यादा होने लगी तो बिजली विभाग ने पिछले सालों का सप्लाई चार्ट खंगाला. इसके आधार पर आंकलन किया गया तो बड़े पैमाने पर बिजली चोरी का अंदेशा जताया गया. इसके बाद बिजली मंत्री रणजीत चौटाला ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मंजूरी मिलते ही करीब 500 टीमों को इस अभियान के तहत फील्ड में उतार दिया.

हरियाणा में आज तक नहीं हुई थी इतनी बड़ी कार्रवाई

बिजली विभाग की टीम में चार अधिकारियों के साथ इतने ही कर्मचारियों को शामिल किया गया. इन टीमों ने बुधवार रात से ही हर जिले में छापेमारी की कार्रवाई को अंजाम देना शुरू कर दिया जो शुक्रवार की रात तक जारी रहा. एडीजीपी विजिलेंस कुलदीप सिंह सिहाग के नेतृत्व में बिजली चोरों को चुन-चुन कर पकड़ा गया. सरकार के पास मोटे तौर पर जो आंकड़ा सामने आया है उसके हिसाब से करीब 500 करोड़ रुपए की बिजली चोरी पकड़ी गई है. यह आंकड़ा और भी ज्यादा हो सकता है.

यह भी पढ़े -   CBSE टॉपर हितेश्वर शर्मा को एक लाख रुपए प्रोत्साहन राशि देगी हरियाणा सरकार, मुख्यमंत्री ने की घोषणा

सरकार को मिल रही थी बिजली चोरी की सुचनाएं

बिजली विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव पीके दास ने बताया कि शुक्रवार रात 12 बजे तक कुछ जिलों का डाटा प्राप्त हुआ था, जबकि पूरा आंकड़ा शनिवार सुबह तक मिलने की उम्मीद है. इस दौरान कई बिजली चोरों ने अपने सम्पर्क का इस्तेमाल करते हुए सीधे बिजली मंत्री तक छोड़ने की गुहार लगाई लेकिन उन्होंने सभी की बातों को अनसुना कर दिया.

यह भी पढ़े -   दुखद: एक ही चिता पर हुआ पति-पत्नी और दो बच्चों का अंतिम संस्कार, हर आंख रही नम

बिजली विभाग की टीमों ने वीरवार और शुक्रवार की रातों को बिजली चोरों पर कार्यवाही की और दिन में आंकलन रिपोर्ट तैयार की. बिजली चोरी की मात्रा के आधार पर जुर्माना राशि का आंकलन शनिवार तक हों पाएगा. पूरे प्रदेश से आंकड़े सामने आने पर बिजली मंत्री रणजीत सिंह प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से बिजली चोरों के खिलाफ चलाए गए बड़े पैमाने पर अभियान की जानकारी साझा करेंगे. इतने बड़े स्तर पर अभियान की कमान इस बार मुख्य सचिव पीके दास के कंधों पर थी. मुख्यमंत्री के सख्त निर्देशों के बाद यह अभियान कुछ दिनों तक और जारी रह सकता है.

ऐसे हो रही थी बिजली चोरी

प्रदेश में शातिर किस्म के लोग कुंडी लगाकर,सीधे टावर से और सीधे लाइनों से बिजली चोरी को अंजाम दें रहें थे. सैकड़ों मामलों में मीटरो से छेड़छाड़ की गई है. रात के ग्यारह से सुबह तीन बजे के बीच चोरों द्वारा बिजली चोरी की कार्रवाई को अधिक मात्रा में अंजाम दिया जा रहा था.बिजली विभाग की टीम ने इसी टाइम अवधि के दौरान छापेमारी को अंजाम दिया.

यह भी पढ़े -   फरीदाबाद: दिल दहला देने वाला अत्याचार, मां ने मासूम बच्चों को दी दर्दनाक सजा, देखें वीडियो

इतिहास की सबसे बड़ी कार्यवाही: रणजीत चौटाला

मुख्यमंत्री के निर्देश पर बिजली चोरों के खिलाफ व्यापक स्तर पर अभियान चलाया गया था. मैं अभी तक वास्तविक रिपोर्ट बताने की स्थिति में नहीं हूं कि कितने लोगों के खिलाफ कार्रवाई हुई है. बिजली चोरों की वजह से बिल भरने वाले लोग परेशानी से जूझ रहे थे.डाटा कंपाइल किया जा रहा है , जल्द ही पूरा आंकड़ा आपके सामने पेश किया जाएगा. मैं इतना दावा करता हूं कि यह बिजली चोरों के खिलाफ प्रदेश के इतिहास की सबसे बड़ी कार्यवाही हैं.

जारी रहेगा अभियान: मुख्यमंत्री मनोहर लाल

हम लोगों को जरुरत के हिसाब से बिजली आपूर्ति करवाने के हरसंभव प्रयास कर रहे हैं. किसानों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए बिजली आपूर्ति के समय में दो घंटे की बढ़ोतरी की गई है. हमें लगातार बिजली चोरी की खबरें मिल रही थी. हम लाइन लास 35 फीसदी से घटाकर 15 से 17 फीसदी तक लाने में कामयाब रहे थे. बिजली चोरों के खिलाफ हमारी कार्यवाही लगातार जारी रहेगी.

 

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!