सरकार की इस योजना से छोटे उद्यमियों को होगा फायदा, 140 प्रोडक्टो को दुनिया भर के बाजारों में पहुंचाएगी सरकार

पंचकुला । हरियाणा के लघु उद्योगों व सूक्ष्म उद्यमियों की बल्ले बल्ले होने वाली है. बता दें कि राज्य सरकार द्वारा हरियाणा के उत्पादों की विश्व भर के बाजारों में मार्केटिंग करने का फैसला किया गया है. जिसका फायदा सीधा लघु उद्योगों को होगा. मनोहर लाल सरकार हरियाणा के करीब 150 उत्पादों को विश्व भर के बाजारों में बेचेगी . बता दे कि हरियाणा पूरे देश की 67 फीसदी कारे बनाता है. वहीं 60 फीसद मोटरसाइकिल और 50 फीसद ट्रैक्टर भी हरियाणा में ही बनते हैं.

FotoJet 3

केंद्र सरकार की योजना को आगे बढ़ा रही है हरियाणा सरकार

वहीं घरों में यूज होने वाले रेफ्रिजरेटर का 50 फीसदी निर्माण भी हरियाणा की देन है. वही बासमती चावल के कुल राष्ट्रीय निर्यात का 60% अकेले हरियाणा से जाता है. वहीं नरवाना हांसी और रतिया की कढ़ाई दार जूतियां पूरे देश में फेमस है. सिरसा जिले का किन्नू, हांसी का पेड़ा, हिसार का इस्पात पूरी दुनिया में मशहूर है. बता दे कि हरियाणा सरकार अपने राज्य के नाम पर इन तमाम उत्पादों को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने की तैयारी में है.

यह भी पढ़े -   अब सभी वर्गों के बीपीएल परिवार उठा सकेंगे डॉ भीमराव अम्बेडकर आवास नवीनीकरण योजना का लाभ, पढ़ें पूरी जानकारी

वही इसके साथ बिक्री के लिए बाजार भी उपलब्ध कराने का खाका खींचा गया है. वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले दिनों वन डिस्टिक वन प्रोडक्ट नाम से एक महत्वकांक्षी योजना शुरू की थी. इस योजना के तहत सूक्ष्म लघु और मध्यम श्रेणी के उद्योगों के बिजनेस को हर स्तर पर बढ़ावा देने की योजनाएं बनाई गई है. हरियाणा सरकार ने दो कदम आगे बढ़ते हुए वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट के स्थान पर 1 ब्लॉक वन प्रोडक्ट योजना बनाई है. वहीं हरियाणा को उसकी बेहतरीन हस्तकला और हथकरघा कार्निवाल के लिए भी जाना जाता है.

बता दें कि फरीदाबाद व गुरुग्राम का ऑटो उद्योग, कैथल की फिरनी, रोहतक की रेवड़ी और गजक,  अंबाला का साइंस उद्योग तथा यमुनानगर का प्लाईवुड आदि ऐसे उद्योग जहाँ बहुत ज्यादा काम करने की आवश्यकता है. प्रदेश सरकार हर ब्लाक के हिसाब से कम से कम एक ऐसे प्रोडक्टों को चयनित करेगी जो उस ब्लाक में तैयार किया जाता हो. बता दे कि केंद्र व प्रदेश सरकार दोनों का लक्ष्य है कि देश में अधिक से अधिक संख्या में स्मॉल बिजनेस शुरू हो. जो बिजनेस पहले से चल रहे हैं उनका विस्तार किया जाए. स्मॉल बिजनेस को बढ़ावा देने के लिए बिजनेस लोन के रूप में भी मदद की जाएगी.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!