इन दिनों अस्पतालों में बढ़ रही है मरीजों की संख्या, जानिए मलेरिया- चिकनगुनिया और डेंगू बुखार के लक्षण

पानीपत | इन दिनों बुखार के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं. यदि आपको भी बुखार है तो उसे हल्के में ना लें. बता दें कि यह बुखार वायरल, डेंगू- मलेरिया, टाइफाइड और चिकनगुनिया में से कोई एक हो सकता है. वही कोरोना का खतरा भी अभी तक पूरी तरह नहीं टला है, इसलिए जरूरी है कि आप बुखार होते ही तुरंत चिकित्सक की सलाह लें. उनके बताए अनुसार जांच कराएं और दवा का सेवन करें.

corona checkup

बढ़ रहे हैं अस्पतालों में बुखार के मरीज 

सिविल अस्पताल के कंसलटेंट डॉ जितेंद्र त्यागी ने बताया कि रोजाना ओपीडी में ढाई सौ से अधिक मरीज पहुंच रहे हैं, इनमें से अधिकतर मरीज खांसी- जुखाम, बुखार से पीड़ित है. वायरल व टाइफाइड के मरीज एकाएक बढ़ रहे हैं. मरीजों को इलाज के साथ-साथ बचाव और परहेज की भी सलाह दी जा रही है. वहीं मरीजों को सबसे अधिक चिंता प्लेटलेट की है, बुखार की वजह से दो-तीन दिन में ही प्लेटलेट्स कम हो जाती है. इसलिए आप बुखार को नजरअंदाज ना करें और तुरंत डॉक्टर की सलाह लें.

चिकनगुनिया के लक्षण 

  • तेज़ बुखार, सिर में दर्द
  • जोड़ों और मांसपेशियों में अत्यधिक दर्द
  • आंखों के पिछले हिस्से में दर्द
  • चक्कर आना, कमजोरी
  • उल्टियां होना
  • रेशेज या चकत्ते होना
यह भी पढ़े -   पानीपत में अनोखा मामला: 22 लाख रुपए आया बिजली बिल, धक्के खाने को मजबूर विधवा महिला

डेंगू के लक्षण

  • तेज सिर दर्द व बुखार
  • मांसपेशियों व जोड़ों में दर्द
  • आंख के पिछले भाग में दर्द
  • घबराहट व उल्टी होना
  • शरीर पर लाल रंग के चकत्ते
  • गंभीर स्थिति में नाक, मुहं व मसूढ़ों से खून निकलना

मलेरिया बुखार के लक्षण 

  • तेज बुखार आना
  • पसीना आना
  • शरीर में दर्द और उल्टी आना
यह भी पढ़े -   पानीपत में अनोखा मामला: 22 लाख रुपए आया बिजली बिल, धक्के खाने को मजबूर विधवा महिला

टाइफाइड के लक्षण

  • तीव्र बुखार और सिर दर्द रहना
  • पेट में दर्द, शरीर में हर समय दर्द
  • शरीर सुस्त रहना, कमजोरी महसूस होना
  • पेचिस और उल्टी की शिकायत

डेंगू से बचाव के उपाय 

  • डेंगू एडीज एजिप्टी मच्छर के काटने से फैलता है.
  • कूलर, पुराने टायर, बर्तन, गमले और टंकियों में पानी जमा न होने दें
  • शरीर को ढकने वाले परिधान पहनें
  • मच्छरदानी लगाकर सोएं
  • बीमारी के लक्षण दिखें को तुरंत उपचार शुरु कराएं
  • शीतल पेय और खाद्य सामग्री का सेवन न करें.
  • मरीज को अलग स्थान पर लिटाएं

टाइफाइड से बचाव के उपाय 

  • टाइफाइड संक्रामक रोग है
  • दूषित वातावरण से पनपता है
  • साफ पानी में स्नान करें
  • स्वच्छ पेयजल का सेवन करें
  • मल-मूत्र स्थान साफ होना चाहिए

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!