बिजली निगम और पुलिस टीम की बुरी तरह पिटाई, पुलिस कर्मी की वर्दी फाड़ी

रोहतक । बिजली निगम की टीम और पुलिस की टीम  चेकिंग के लिए हुमायूंपुर गांव में पहुंची. जहां ग्रामीणों ने उन पर पथराव किया. जिसकी वजह से कई पुलिसकर्मी घायल हो गए. वही हमलावरों ने पुलिसकर्मियों को जान से मारने की धमकी दी और उनकी वर्दी फाड़ डाली. हमलावरों ने कहा कि दोबारा उनके गांव में घुसने की कोशिश की,  तो वे उन्हें जान से मार डालेंगे.

यह भी पढ़े -   कोरोना महामारी में अंतिम संस्कार के लिए लकड़ियों का भी संकट

Bijli Karmi

ग्रामीणों ने फाड़ी हेड कांस्टेबल की वर्दी 

सिंचाई एवं बिजली थाने में तैनात हेड कांस्टेबल सुनील ने आईए मटी थाने में शिकायत दर्ज करवाई. इसमें बताया गया कि कई दिन पहले उन्हें सूचना मिली थी कि हुमायूंपुर गांव निवासी महेंद्र,वीरेंद्र और रामधारी अपने मकान की छत से गुजर रही केबल में कट लगाकर रात के समय बिजली चोरी करते है. इस सूचना के आधार पर ही 26 मार्च की रात को चेकिंग टीम के साथ वह गांव में पहुंचे. टीम ने सबसे पहले वीरेंद्र के घर पर चेकिंग की चेकिंग की, इसके दौरान वीरेंद्र ने टीम को गाली देनी शुरू कर दी. वही जब वह रामधारी के घर पर पहुंचे,  तो उन्होंने दरवाजा ही नहीं खोला.

यह भी पढ़े -   400 सबसे अधिक प्रभावित गांवों में लोगों की स्क्रीनिंग कराएगी हरियाणा सरकार

जब वह वापस जाने लगे,  तो वीरेंद्र अपने काफी साथियों के साथ वहां पर आया और उनका रास्ता रोक लिया. आरोपियों ने टीम पर पथराव शुरू कर दिया. जिसकी वजह से टीम के कई सदस्य घायल हो गए. बड़ी मुश्किल से उनके साथियों ने भागकर अपनी जान बचाई. आरोपियों ने हेड कांस्टेबल की वर्दी भी फाड़ डाली. और धमकी दी कि अगर दोबारा से गांव में चेकिंग करने के लिए आए तो जान से मार देंगे. टीम ने किसी तरह अपनी जान बचाई.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!