किसानों के गुस्से का शिकार हुए दुष्यंत चौटाला, कड़ी सुरक्षा के बीच हैलिकॉप्टर के जरिए निकले सिरसा से बाहर

सिरसा । तीन नए कृषि कानूनों से आक्रोशित किसानों के गुस्से को देखते हुए मंगलवार को दोपहर बाद उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला कड़ी सुरक्षा के बीच सिरसा से बाहर निकल सकें. दुष्यंत चौटाला के सिरसा निवास पर समर्थक होली के त्योहार को आपस में मिठाई खिलाकर सेलिब्रिट कर रहे थे,जिसका किसानों ने पुरजोर विरोध किया.

kisan aandolan 2

किसानों के गुस्से को देखते हुए दुष्यंत चौटाला के सिरसा से बाहर निकलने के लिए राज्य सरकार की ओर से हैलिकॉप्टर का प्रबंध किया गया था. चौटाला को भारी पुलिस फोर्स के साथ उनके आवास से निकालकर पुलिस लाइन में बने हैलीपेड तक ले जाया गया. किसान विरोध करते हुए वहां भी पुलिस लाइन के मेन गेट तक पहुंच गए और दुष्यंत चौटाला को काले झंडे दिखाए. पुलिस लाइन के आस-पास भारी पुलिस बल तैनात किया गया था.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में आठवीं पास युवाओ के लिए 100 पदों पर भर्ती जल्द, देखे पूरी जानकारी

किसानों ने पुलिस द्वारा लगाए गए बैरिकेड पर चढ़कर दुष्यंत चौटाला को काले झंडे दिखाते हुए नारेबाजी की. आक्रोशित किसान हैलीपेड तक पहुंचने की जिद करते रहे,मगर पुलिस ने जैसे तैसे उनको रोक लिया.

दूसरी ओर विधानसभा सत्र के दौरान सिरसा के विधायक गोपाल कांडा द्वारा किसानों को काली भेड़ कहने से भड़के किसान आज दोपहर गोपाल कांडा के सिरसा स्थित आफिस में नारेबाजी करते हुए पहुंचे और पुतला दहन किया. किसान नेता ने कहा कि अगर गोपाल कांडा ने किसानों को लेकर दिया अपना बयान वापस नहीं लिया तो उनका हाल पंजाब के भाजपा विधायक से भी बुरा होगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!