हाई पावर कमेटी और किसान नेताओं में कल होगी बातचीत, बॉर्डर खाली करने को लेकर बन सकती है सहमति

सोनीपत । सुप्रीम कोर्ट के दखल के बाद हरियाणा सरकार दिल्ली की सीमाओं पर बंद रास्ते खुलवाने के लिए सक्रिय हो गई है. इसके लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में हुई एक बैठक में हाई पावर कमेटी भी गठित की गई है जो कल सोनीपत में संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं से बातचीत करेगी. हालांकि किसान नेता कई बार यें स्पष्ट कर चुके हैं कि रास्ते उन्होंने नहीं दिल्ली पुलिस ने बंद किए हैं , फिर भी वो सरकार द्वारा गठित कमेटी से बातचीत के लिए तैयार हैं.

यह भी पढ़े -   मुख्यमंत्री ने की जिला उपायुक्तों के साथ मीटिंग, इन कार्यों के दिए गए निर्देश

KISAN METTING

बता दें कि तीनों कृषि कानूनों के विरोध में संयुक्त किसान मोर्चा के नेतृत्व में पिछले नौ महीनों से दिल्ली की सीमाओं पर किसानों ने पड़ाव डाला हुआ है जिसके चलते सोनीपत में सिंघु बार्डर और बहादुरगढ़ के टीकरी बार्डर को पूरी तरह से सील किया हुआ है. दोनों मुख्य बार्डर से दिल्ली आने-जाने का सड़क मार्ग बंद पड़ा है . दोनों बार्डर से हर रोज लाखों वाहनों की दिल्ली में इंट्री होती थी लेकिन किसान आंदोलन के चलते बंद रास्ते होने की वजह से लोगों को वैकल्पिक रास्तों के जरिए दिल्ली आवागमन करना पड़ रहा है जो लोगों के लिए मुसीबतें खड़ी कर रहा है.

यह भी पढ़े -   डेंगू की बढ़ती रफ्तार को लेकर स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने ली हाई लेवल मीटिंग, अधिकारियों को दिए ये निर्देश

वहीं झज्जर के बहादुरगढ़ स्थित टिकरी बार्डर से भी डीसी श्याम लाल पूनिया किसान संगठनों से रास्ता खुलवाने के लिए लगातार सम्पर्क कर रहे हैं. वहीं दूसरी तरफ एसडीएम बहादुरगढ़ को तब तक दिल्ली में प्रवेश करने वाले वैकल्पिक रास्तों को सुधारने के निर्देश भी दिए गए हैं.

डीसी श्याम लाल पूनिया ने बताया कि आम आदमी और व्यापार संगठन ने भी मांग की है कि जब तक टिकरी बार्डर नहीं खुलता तब तक वैकल्पिक सड़क मार्ग को दुरुस्त करवाया जाएं. उन्होंने कहा कि हाई पावर कमेटी जल्द ही किसान संगठनों के साथ दिल्ली पुलिस से भी बातचीत करेगी और उम्मीद है कि जल्द ही टिकरी बार्डर से एक तरफ का रास्ता खुल जाएगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!