हरियाणा में जनवरी की बारिश ने कई सालों का रिकॉर्ड तोड़ा, जानें अब कैसा रहेगा मौसम

चंडीगढ़ । आने वाले कुछ दिनों से मैदानी इलाकों विशेष तौर पर हरियाणा और दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में कड़ाके की ठंड पड़ेगी. इन इलाकों में अभी शीतलहर और कोल्ड डे की स्थिति बनी हुई है और आने वाले दिनों में इसमें इजाफा होगा, जिसके चलते कड़ाके की ठंड का जलवा आम आदमी के हाड़ कंपाने का काम करेगा. आज सुबह कोहरे और धुंध की सफेद चादर पूरे इलाके में देखने को मिली. बारिश के चलते वातावरण में नमी की मात्रा 100% हों गई है, जिसके चलते कोहरे की मात्रा में और अधिक बढ़ोतरी दर्ज होगी.

यह भी पढ़े -   डिप्टी सीएम दुष्यंत ने कहा: MSP पर गेहूं का एक-एक दाना खरीदा, किसानों के खातों में भेजे गए 7513 करोड़

barish 2

हरियाणा में इस वर्ष जनवरी माह में हुई बारिश ने पिछले कई सालों के रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए. इस वर्ष ला- नीना सशक्त मौसमी प्रणाली के प्रभाव से लगातार पिछले साल जुलाई से सितंबर तक मानसून प्रणाली से और अक्टूबर से जनवरी तक वैस्टर्न डिस्टरबेंस से लगातार प्रत्येक महीने बारिश देखने को मिल रही है और ये गतिविधियां फरवरी के महीने में भी देखने को मिलेगी. इसके अलावा शीत ऋतु के दिनों के साथ, तापमान में गिरावट और ठंड में भी बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है.

जैसे ही बारिश की गतिविधियां समाप्त होती है उसके बाद कोहरा, धुंध, पाला, कोल्ड- डे और शीतलहर की स्थिति उत्पन्न होने लगती है. वर्तमान मौसम प्रणाली का प्रभाव हरियाणा से 24 जनवरी की शाम से पूरी तरह हटने की उम्मीद जताई गई है. 25 जनवरी से मौसम साफ हो जाएगा और पवनों की दिशा एक बार फिर उत्तर पश्चिमी बर्फीली ठंडी होने की प्रबल संभावना बन रही है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा के 'मिड-डे-मील' वर्करों के लिए खुशखबरी, सैलरी में हुआ बंपर इजाफा

रविवार को दिनभर सूर्य देवता और बादलों के बीच लुका-छिपी का खेल चलता रहा. दोपहर बाद सूर्य देवता ने दर्शन तो दिए लेकिन धूप में तेजी न होने और बर्फीली ठंडी पवनों के चलने से आम आदमी को ठंड से कोई विशेष राहत नहीं मिली.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!