हरियाणा में 10 अगस्त तक सक्रिय रहेगा मानसून, राज्य के कई जिलों में भारी बारिश की संभावना

हिसार | हरियाणा प्रदेश में इस साल मानसून लंबे समय से सक्रिय रहा है. मानसून की सक्रियता बढ़ने के कारण प्रदेश के अधिकतर जिलों में जुलाई महीने की शुरुआत से ही जबरदस्त बारिश देखने को मिली है. कृषि मौसम विज्ञान विभाग हिसार की ओर से प्रदेश के भीतर मॉनसून की स्थिति को लेकर अपडेट जारी किया गया है.

BARISH HARYANA

हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय हिसार के कृषि मौसम विज्ञान विभाग अध्यक्ष डॉ. मदन खिचड़ द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, बंगाल की खाड़ी में बने एक कम दबाब व मॉनसून की टर्फ रेखा बीकानेर, जयपुर, पूर्वी मध्यप्रदेश, डालतागंज से उत्तरपूर्व बंगाल की खाड़ी तक बनी हुई है जो उत्तर की तरफ बढ़ने से नमी वाली पुरवाई हवाएँ की थोड़ी सक्रियता बढ़ने से 10 अगस्त तक हरियाणा राज्य में मौसम परिवर्तनशील रहने व बीच-बीच में उत्तर पश्चिम व दक्षिण क्षेत्रों में कुछ एक स्थानों पर हवायों व गरजचमक के साथ हल्की बारिश होने की संभावना है.

यह भी पढ़े -   Haryana Weather Update: हरियाणा में मौसम विभाग का अलर्ट जारी, 27 से 30 सितंबर के बीच बारिश की संभावना

मौसम विभाग हिसार की रिपोर्ट में इस बात की भी सूचना दी गई है कि 11 अगस्त से मॉनसून टर्फ रेखा का पाश्चिमी छोर हिमालय की तलहटियों की तरफ बढ़ने की संभावना को देखते हुए राज्य में मॉनसूनी हवाएँ कमजोर हो जाने की सम्भावना बन रही है. यानी 11 अगस्त के बाद से राज्य के भीतर मानसून की सक्रियता धीरे-धीरे कम होती चली जाएगी. बता दें कि मौसम विभाग ने इस साल पहले ही चेतावनी दी थी की इस बार बंगाल की खाड़ी पर एक गहरा कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है. ऐसे में हरियाणा के कई जिलों जबरदस्त बारिश हो सकती है. मौसम विभाग की पूर्वानुमान रिपोर्ट के जैसी ही राज्य में मौसम की स्थिति भी रही है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!