हरियाणा पंचायत चुनाव को लेकर डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कही ये बड़ी बात, यहाँ पढ़े

यमुनानगर | हरियाणा के उपमुख्यमंत्री यमुनानगर में शोक सभा में शामिल होने के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए दुष्यंत चौटाला ने कहा कि राज्य में पंचायती चुनाव 30 सितंबर से पहले होने की संभावना है. सरकार ने कई सप्ताह पहले लिखित में चुनाव आयोग को इसकी जानकारी दी है. अब यह चुनाव आयोग पर निर्भर है कि वह चुनावों की घोषणा कब करता है.

Dushyant Choutala

चौटाला ने विस्तार से चर्चा करते हुए कहा कि अगर चुनाव आयोग ने चुनाव के आंकड़ों में संशोधन किया है तो नवगठित नगर पालिकाओं या ग्राम पंचायतों के आंकड़ों का मिलान कर वार्डबंदी का काम पूरा कर जल्द चुनाव की घोषणा करें. चौटाला ने कहा कि उनकी जानकारी के अनुसार हिसार का वार्ड बंद करने का काम पूरा हो चुका है और सिरसा, दादरी और गुड़गांव में अभी भी कुछ काम बाकी है. उम्मीद है कि अगले एक सप्ताह के भीतर यह काम हो जाएगा और राज्य में चुनाव हो जाएंगे.

चुनाव चिन्ह पर लड़ना है या नहीं, दोनों पक्ष मिलकर तय करेंगे

जब डिप्टी सीएम से पूछा गया कि चुनाव चिन्ह पर लड़ा जाएगा या बिना चुनाव चिन्ह के, तो उनका जवाब था कि ये दोनों दल मिलकर फैसला करेंगे. अगर दोनों पार्टियां बिना चुनाव चिह्न के लड़ेंगी तो किसी को गठबंधन या चुनाव चिह्न की बात नहीं करनी चाहिए. चौटाला ने कहा कि यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि दोनों पक्षों की आपसी राय क्या है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा में सरपंच बनने के लिए महिला ने सोशल मीडिया पर लगाई वादों की झड़ी, वीडियो हुआ वायरल

सोनाली फोगाट मामले में कही ये बात

चौटाला ने कह कि सोनाली फोगाट मामले की निगरानी गोवा सरकार कर रही है, गोवा में अपराध हुआ है, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में क्या आता है, प्राथमिकी में जांच के दौरान क्या सामने आ रहा है, गोवा सरकार अपने स्तर पर इन सभी पहलुओं की जांच कर रही है. अगर हरियाणा सरकार को सीबीआई जांच के लिए सिफारिश करनी होती तो कब का कर देती. उन्हें यकीन है कि गोवा सरकार जो भी कदम उठाएगी, वह हर लिहाज से उचित कार्रवाई होगी.

यह भी पढ़े -   भ्रष्टाचार को लेकर बीजेपी विधायक ने खोली अपनी ही सरकार की पोल, जड़े गंभीर आरोप

सड़कों के लिए 25 करोड़ रुपये दिए

हरियाणा की सड़कों पर बोलते हुए चौटाला ने कहा कि राज्य की 90 सीटों में से 25 करोड़ रुपये सिर्फ सड़कों के लिए दिए गए हैं. आने वाले एक से दो साल में इसका अनुकूल असर राज्य की सड़कों पर देखने को मिलेगा. नशे की लत पर काबू पाने के मामले में दुष्यंत चौटाला ने भी सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि यह रिकॉर्ड की बात है कि चाहे राजस्थान हो, हिमाचल हो या पंजाब, युवाओं को नशे की ओर जाने से रोकने में हरियाणा इन तीनों राज्यों से तेज काम कर रहा है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!