हरियाणा में किसान अबकी बार खुद करेंगे फसलों को ले जाने का शेड्यूल तय, विवाद टालने के लिए सरकार का फैसला

चंडीगढ़ । अबकी बार धान के सीजन में हरियाणा के किसान मंडी में अपनी फसल लाने के लिए खुद ही अपना शेड्यूल तैयार कर सकेंगे. बता दे कि सीजन में आने वाली दिक्कतों और टकराव की स्थिति को रोकने के लिए सरकार ने यह फैसला लिया है. जैसे ही धान की खरीद शुरू होगी, वैसे ही मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर जाकर किसान मंडी में फसल ले जाने का अपना दिन और समय तय कर सकेंगे. प्रदेश में 46लाख 98 हजार 833 एकड़ में धान की फसल लगाई गई है. वही पोर्टल पर 750251 किसानों ने पंजीकरण करवाया है. 31 अगस्त तक पंजीकरण के बाद इसे बंद कर दिया गया.

यह भी पढ़े -   1 अक्टूबर से शुरू होगी धान की खरीद, किसान खुद कर सकेंगे शेड्यूलिंग

kisan aandolan

किसान स्वयं करेंगे मंडी में फसल ले जाने के लिए शेड्यूल तैयार

25 सितंबर से जैसे ही सरकारी खरीद शुरू होगी,  पोर्टल को दोबारा से शुरू कर दिया जाएगा. बता दें कि किसान अपनी पंजीकरण संख्या या मोबाइल नंबर के आधार पर मंडी में अपनी फसल लाने की तिथि और समय निर्धारित कर सकेंगे. इसके बाद किसान के पास मैसेज आएगा और उसे दिखा कर वह मंडी में अपनी फसल बेच सकता है. कृषि विभाग मार्केटिंग बोर्ड और खाद्य एवं आपूर्ति विभाग ने इसके लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली है.

यह भी पढ़े -   कल हरियाणा में मनाया जाएगा ‘वर्ल्ड कार फ्री डे’, CM खट्टर चलाएंगे साईकिल

3इससे पहले किसानों को पोर्टल पर अपना पंजीकरण करवाना होता था, बाद में मार्केटिंग बोर्ड अपने अनुसार किसानों को मंडी में फसल लाने के लिए मैसेज भेजता था. वही इस में दिक्कत यह थी कि कई किसानों के पास पहले ही मैसेज पहुंच जाते थे जिनकी फसल पकी नहीं थी. वहीं दूसरी और उन किसानों के पास मैसेज नहीं जाते थे जिनकी फसल पक कर तैयार हो जाती है. जिस वजह से हर सीजन मे इसके विरोध में किसान हंगामा करते थे. पिछली बार करनाल मंडी में भी इस मामले को लेकर 2 दिन तक विवाद चला था.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!