वैक्सीनेशन: 15 से 18 वर्ष वाले किशोरों को लगने वाली वैक्सीन से संबंधित सभी सवालों के जानिए, जवाब

चंडीगढ़ | देशभर में बढ़ते ओमिक्रोन के संक्रमण को देखते हुए सरकार वैक्सीनेशन पर जोर दे रही हैं. इस बीच 15 से 18 साल के किशोरों को भी एक जनवरी से वैक्सीन लगनी शुरू हो जाएगी. इनके परिजनों के मन में काफी सारे सवाल है कि उनके बच्चों को कौन सी वैक्सीन लगेगी, कैसे रजिस्ट्रेशन करना होगा. इन तमाम सवालों का जवाब जानने के लिए इस खबर को पूरा पढ़िए.

Corona Virus Vaccine

जानिए किशोरों को कौन सी वैक्सीन लगने वाली है

बता दें कि 15 से 18 साल के किशोरों को एक जनवरी से वैक्सीन लगने वाली है. स्वास्थ्य विभाग ने जानकारी दी है कि 15 से 18 वर्ष की आयु वाले किशोरों को को-वैक्सीन लगाई जाएगी. गौरतलब है कि नेशनल कोविड वैक्सीनेशन प्रोग्राम के तहत 15 से 18 साल आयु के किशोरों को 3 जनवरी से पहले रोज लगने का काम शुरू हो जाएगा. इनको भारत बायोटेक द्वारा निर्मित को वैक्सीन का टीका लगाया जाएगा हेल्थ फ्रंटालाईन वर्कर्स और सीनियर सिटीजन को एहतियातन डोज 10 जनवरी से लगनी शुरू होगी. जिसके लिए कोविन ऐप पर एक जनवरी से रजिस्ट्रेशन शुरू हो जाएंगे.

वैक्सीन लगवाने के लिए ऐसे करें रजिस्ट्रेशन

• स्मार्ट फोन में प्ले स्टोर से निशुल्क कोविन ऐप डाउनलोड करें या कोविन वेबसाइट पर लॉगिन करें.
• इसके बाद गोविंद ऐप पर अपना मोबाइल नंबर डाले उसके बाद जो ओटीपी प्राप्त होगा उसे दर्ज करके लॉगिन करें.
• इसके बाद आधार कार्ड पैन कार्ड पासपोर्ट समेत अपनी कोई भी आईडी चुने.
• आपके द्वारा चुनी गई आईडी का नंबर दर्ज करें इसके बाद जेंडर व जन्मतिथि चुने.
• रजिस्ट्रेशन पूरा होने के बाद अपने एरिया का पिन कोड डालें टीकाकरण केंद्रों की सूची आपको मिलेगी.
• टीकाकरण केंद्र चुने टीकाकरण तारीख समय और वैक्सीन का नाम चुने.
• इसके बाद अंत में टीकाकरण केंद्र पर पहुंचकर रेफरेंस नंबर और फोन पर मिला सीक्रेट कोड बताना होगा.

यह भी पढ़े -   शायद आप नहीं जानते होंगे सरस्वती नदी के उद्गम का ये रहस्य

बुजुर्गों को लगाई जाएगी तीसरी डोज

बता दें कि बीमार और सीनियर सिटीजन को टीका डॉक्टर की सलाह देने के बाद ही लगेगा. हेल्थ फ्रंट टाइल्स वर्कर्स और सीनियर सिटीजन को तीसरी डोल उसी वैक्सीन की लगेगी जिसकी पहली दो जने लग चुकी है दूसरी रोज के 39 दिन बाद ही तीसरी डोज लग सकती है कोविन एप पर रजिस्ट्रेशन के समय 15 से 18 साल के किशोर के पास आधार कार्ड नंबर नहीं है तो स्कूल कॉलेज का पहचान पत्र सीरियल नंबर डाल सकते हैं.

यह भी पढ़े -   अब नौकरियों में नहीं होगा फर्जीवाड़ा, सरकार ने भर्ती प्रक्रिया के इन नियमों में किया बदलाव

2 से 15 साल के बच्चों के लिए भी जल्द आएगी वैक्सीन

कोरोनावायरस अपना रूप बदल रहा है. जिसके कारण संक्रमण से बचाव के लिए वैक्सीनेशन काफी जरूरी है. ऐसी जानकारी है कि सरकार जल्द ही 2 से 15 साल के बच्चों का कोविड-19 करण भी शुरू कर सकती हैं.

तीसरी खुराक क्यों जरूरी है

कोरोना वायरस अपना रूप बदल रहा है. वैक्सीन का काम शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करना है. टीके की प्रभावशीलता 70-80% है. अगर तीसरी खुराक ली जाती है, तो एंटीबॉडी लंबे समय तक शरीर के अंदर बनी रहेगी. सबका इम्यून सिस्टम बनेगा मजबूत, हर्ड इम्युनिटी बनी रहेगी. कोरोना संक्रमण से होने वाली मृत्यु दर में काफी कमी आएगी.
बच्चों और किशोरों का टीकाकरण क्यों आवश्यक है
अगर बच्चे और किशोर स्वस्थ रहेंगे तो उनमें बीमारियों का खतरा कम होगा. जैसे-जैसे बच्चे बड़े होते हैं कुपोषण, मोटापा, शुगर, तनाव, माइग्रेन और अन्य बीमारियां जोर पकड़ने लगती हैं. इसे ध्यान में रखते हुए, सरकार ने 15 से 18 वर्ष की आयु के किशोरों को एंटी-कोरोनावायरस टीकाकरण प्रदान करने का निर्णय लिया है.

यह भी पढ़े -   लता मंगेशकर की तबियत खराब होने की झूठी खबरें सोशल मीडिया पर वायरल, फैंस से अपील न करें विश्वास

स्कूलों में लगेंगे टीकाकरण शिविर

स्वास्थ्य विभाग जिला अस्पताल, सीएचसी-पीएचसी, सामाजिक-धार्मिक संस्थानों, सार्वजनिक स्थानों और स्कूलों और कॉलेजों में 15 से 18 वर्ष के आयु वर्ग के लिए टीकाकरण शिविर आयोजित करेगा. स्कूलों में प्रबंधन के समन्वय से तिथि तय की जाएगी. शिविर के दौरान एक काउंसलर भी नियुक्त किया जाएगा. उनका काम किशोरों में टीकाकरण को लेकर फैली भ्रांतियों को दूर करना होगा. जिला प्रशासन, शिक्षा विभाग के सहयोग से जागरूकता अभियान चलाया जाएगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!