सलमान खान फिल्म “अंतिम” के प्रमोशन के लिए पहुंचे चंडीगढ़, जानिए क्या कही खास बात

चंडीगढ़ | सलमान खान की फिल्म अंतिम 26 नवंबर को सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है. इस फिल्म में अभिनेता सलमान खान ने पुलिस वाले का किरदार निभाया है जो कि सरदार है. फिल्म ‘अंतिम’ के प्रमोशन के लिए  सलमान खान मंगलवार को चंडीगढ़ पहुंचे. उन्होंने चंडीगढ़ के एलांते मॉल में प्रशंसकों को संबोधित किया. साथ ही प्रशंसकों के साथ फिल्म अंतिम से जुड़े कुछ खास अनुभव भी साझा किए.

SALMAN

आपको बता दें कि सलमान खान की फिल्म अंतिम सिनेमाघरों में रिलीज हो चुकी है. उन्होंने अपने प्रशंसकों के साथ फिल्म से जुड़े कई अनुभव साझा किए. सलमान खान ने कहा कि पगड़ी बांधने में उन्हें पहले तो परेशानी हुई 4 से 5 दिनों में उन्होंने पगड़ी बांधना सिखा. जब पगड़ी पहने हार गई तो उसके बाद उसकी इज्जत करना मुश्किल लगा.

पगड़ी को लेकर जानिए क्या, कहा

सलमान ने यह भी बताया कि फिल्म में उन्हें एक सीन में सिर से पगड़ी उतार कर एक मृत लड़की के शरीर को ढकना था. उन्होंने बताया कि उस समय उनके लिए पगड़ी उतारना और इज्जत के साथ किसी के शरीर को ढकने उनके लिए मुश्किल बात थी. इसका कारण बताते हुए उन्होंने कहा कि क्योंकि फिल्म में होने दो काम है साथ करने से पहले एक लड़की की इज्जत को बचाना था तो दूसरों पगड़ी की चटनी बचा कर रख रहे थे उसे करने में उन्हें सबसे ज्यादा समय लगा.

यह भी पढ़े -   हरियाणा के गृह मंत्री ने अपराधियों को दी सख्त चेतावनी, पुलिस वालों पर भी होगी कार्रवाई

सलमान ने भांजे के बारे में क्या बताई खास बात

फिल्म अंतिम में सलमान खान हीरो की भूमिका में है तो वह आयुष शर्मा विलेन की भूमिका निभा रहे हैं. सलमान खान ने एक खास बात साझा करते हुए कहा कि भांजा आहिल जब भी आयुष और हमारे सूट को देखता है तो उसे समझने में परेशानी होती है दिल कहता है कि मामू पापा को मार रहे हैं. उस बात को समझाने के लिए उसे फिल्म के साथ तक लेकर जाना पड़ा जो थोड़ा चुनौतीपूर्ण लगा है.

यह भी पढ़े -   सुकन्या समृद्धि योजना के 7 साल पूरे, 31 जनवरी तक घर -घर जाकर बेटियों के खाते खोलेगा डाक विभाग

सलमान ने एक प्रश्न का उत्तर देते हुए कहां  कि उनकी फिल्म एक मराठी फिल्म से प्रभावित है. उसे बेहतरीन लोकन टच देने के लिए चंडीगढ़ और पंजाब के विभिन्न स्थानों को चुना गया था कोरोना महामारी के कारण वह ऐसा नहीं कर पाए. जिसके कारण पूरी शूटिंग पुणे में हुई. सलमान खान ने कहा कि पंजाबी फिल्मों में स्थानीय टच देना जरूरी है. किंतु वह ऐसा नहीं कर पाए बावजूद इसके उन्होंने फिल्म को बेहद मनोरंजक बनाने की पूरी कोशिश की है. जो दर्शकों को शायद पसंद भी आए.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!