समाजसेवी नवीन जयहिंद का बड़ा बयान, कहा- 5 लाख बुजुर्गों की पेंशन सरकार ने अवैध रूप से काटी

हिसार | नवीन जयहिंद प्रेस वार्ता के लिए हिसार पहुंचे, जहां उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि गांधार गांव निवासी 102 वर्षीय राजा दादा दुलीचंद को सरकार ने जिस तरह मृत घोषित करके उनकी पेंशन में कटौती की गई. जब हमने यह मामला उठाया तो पता चला कि राज्य में करीब 5 लाख बुजुर्ग हैं, जिनकी पेंशन सरकार ने अवैध रूप से काट ली है. जिसमें विकलांग और विधवा महिलाएं भी शामिल हैं.

pension

होगा बड़ा आंदोलन

जयहिंद ने कहा कि इन सबके बाद हमने रोहतक में दादा दुलीचंद की बारात निकाली और फिर चंडीगढ़ भी गए. जहां मुख्यमंत्री ने अपनी गलती स्वीकार करते हुए विभाग को आदेश दिया कि 15 दिनों के भीतर 30 सितंबर तक पूरे राज्य में जहां कहीं भी यह समस्या है उसका समाधान किया जाए. वहीं, जयहिंद ने कहा कि अगर सरकार ऐसा नहीं करती है तो बड़ा आंदोलन होगा.

इस नंबर पर करें काल

पेंशन संबंधी समस्या को लेकर सरकार की ओर से हर जिले में एक नंबर जारी किया गया है. जयहिंद ने कहा कि अगर आपको पेंशन संबंधी कोई समस्या है तो सरकार द्वारा जारी नंबर पर कॉल करें या डीसी कार्यालय में पेंशन विभाग में जाकर अपनी पेंशन शुरू करवाएं. अगर यहां भी आपकी कोई सुनवाई नहीं हो रही है तो आप हमें 7027-811-811 पर कॉल करके अपनी शिकायत बता सकते हैं. हम आपकी पेंशन करा देंगे.

यह भी पढ़े -   आदमपुर उपचुनाव की तारीख का ऐलान, यहां पढ़ें चुनाव से रिजल्ट तक का शेड्यूल

किया ये खुलासा

नवीन जयहिंद ने बताया कि सरकार ने यह भी माना है कि 2 लाख ऐसे लोग हैं जिनके साथ ऐसा अन्याय हुआ है. लेकिन अब हम राजा दादा दुलीचंद के आदेशानुसार राज्य के हर जिले में जाएंगे. ताकि ज्यादा से ज्यादा बुजुर्ग, विकलांग और विधवा महिलाएं अपनी कटी हुई पेंशन दोबारा शुरू करवा सकें. जयहिंद ने कहा कि सरकार के अनुसार तकनीकी खराबी के कारण 1 लाख 75 हजार 298 लोगों की पेंशन रोक दी गई है. फैमिली आईडी में गड़बड़ी के कारण 1 लाख 4 हजार 655 लोगों की पेंशन रोक दी गई है.


आंकड़ों के अनुसार, 70 हजार 643 लोगों की पेंशन तय की गई थी. 14 हजार 691 लोग ऐसे हैं जो जिंदा हैं लेकिन उन्हें मृत दिखाया गया है. 18 हजार 581 विधवा महिलाओं के पतियों को जिंदा दिखाया गया है. 34 हजार 703 लोग ऐसे हैं जिनकी आय शून्य है लेकिन उन्होंने 2 लाख रुपये की आय दिखाई है. पूर्व सैनिकों को 33 हजार 616 लोगों को दिखाया गया है. 4500 विकलांग ऐसे हैं जिन्हें फिट दिखाया गया है और उनकी पेंशन काट ली गई है.

यह भी पढ़े -   राष्ट्रीय इंडियन मिलिट्री कॉलेज (RIMC) के 100 साल के इतिहास में पहली बार 2 लड़कियों का चयन, एक बेटी हरियाणा की

2404 लोगों को सरकारी कर्मचारी दिखाकर उन्हें सरकारी पेंशन देते हैं, जबकि वे सरकारी कर्मचारी नहीं हैं. 2044 लोगों की लाडली पेंशन रोक दी गई. जबकि 2 लाख ऐसे व्यक्ति हैं जिनकी उम्र 60 वर्ष से अधिक है और उनकी पेंशन का रखरखाव नहीं किया जाता है.

सरकार सुस्त : जयहिंद

जयहिंद ने बताया कि राज्य में सरकारी काम बहुत ही सुस्त है या कई बार सरकार जनता के लिए काम करना पूरी तरह से भूल जाती है. इसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि राज्य में दो साल से एक भी नया राशन कार्ड नहीं बना है. जिससे गरीब लोग काफी परेशान हैं. सरकार और अधिकारियों को आलस्य छोड़कर लोगों के लिए काम करना चाहिए. ताकि गरीब लोगों को कुछ सुविधा मिल सके.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!