हरियाणा सरकार और किसानों के बीच हुई मीठी बातचीत, जल्द खुल सकते हरियाणा-दिल्ली बॉर्डर के बंद रास्ते

बहादुरगढ़ | दिल्ली हरियाणा के बंद रास्तों को खुलवाने के लिए आज  आंदोलनरत किसानों और हरियाणा सरकार की एचपीसी (हाई पावर कमेटी) के बीच बैठक हुई. किसान नेताओं ने बंद रास्तों को खुलवाने में पूरा सहयोग देने का भरोसा दिलाया है.

Kisan Aandolan go sonipat

हालांकि उन्होंने यह स्पष्ट किया है कि मामले से जुड़ा हर पहलू संयुक्त किसान मोर्चा के टॉप लीडरशिप को उसके जानकारी दी जाएगी, जिस पर टॉप लीडरशिप ही आखिरी फैसला लेगी. बैठक में दिल्ली-हरियाणा के बीच बंद हुए रास्तों को खुलवाने का माहौल बनाया गया. सरकार की हाई पावर कमेटी की अगुआई कर रहे एसीएस राजीव अरोड़ा ने कमेटी मेंबरों के साथ टिकरी बॉर्डर का जायजा लिया.

एसीएस राजीव अरोड़ा ने सड़क पर लगी स्थाई बैरिकेडिंग पर चढ़कर हालातों का जायजा लिया. इस दौरान एससीएस राजीव अरोड़ा ने कहा कि सौहार्दपूर्ण माहौल में ही बात बनेगी. दिल्ली पुलिस ने जो रास्ते बंद कर रखे हैं, उन्हें दोनों तरफ एक-एक लेन खोलने के लिए दिल्ली वालों से बातचीत करनी होगी.

यह भी पढ़े -   अब कुल 65 रुपए प्रति लीटर पर दौड़ेगी आपकी गाड़ी, मोदी सरकार ने उठाया ये बड़ा कदम

दिल्ली पुलिस ने बात करने से पहले हालात की सटीक जानकारी जुटाई. उन्होंने बताया कि किसानों ने कहा है कि उनकी तरफ से कोई दिक्कत नहीं आएगी. उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार के प्रयास है कि बन्द रास्ते जल्द खुलें. वहीं बैठक में किसानों ने अपनी समस्याएं रखी और आंदोलन स्थल पर बिजली, पानी और लिविंग कंडीशन सुधारने की मांग रखी. बैठक में उद्योगपतियों ने भी अपनी समस्या बताई.

यह भी पढ़े -   सोनीपत: संपत्ति लेकर दादी को छोड़ा बेसहारा, अब हाईकोर्ट में जमीन सहित 25‌ लाख रुपए हारा

किसान नेताओं ने यकीन दिलवाया कि टिकरी बॉर्डर के मार्ग को खोलने में उनकी तरफ से पूरा सहयोग किया जाएगा.  उद्योगपतियों ने भी बताया कि मार्ग बंद होने के कारण इसका प्रभाव उनके उद्योग पर पड़ रहा है. सप्लाई करने में कठिनाई की समस्या का सामना करना पड़ रहा है. इसलिए रास्तों को खुलवाना अत्यधिक आवश्यक है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!