मोदी सरकार का बड़ा फैसला: BSNL के पुनरुद्धार के लिए करोड़ों की मंजूरी, BBNL के विलय पर मुहर

नई दिल्ली | बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन किया गया. इस बैठक में कई बड़े मुद्दों पर फैसला लिया गया. कैबिनेट और आर्थिक मामलों की कैबिनेट कमेटी (सीसीईए) को लेकर भी बड़ा फैसला लिया गया है. कैबिनेट ने भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) के पुनरुद्धार के लिए 1.64 लाख करोड़ रुपये के पुनरुद्धार पैकेज को मंजूरी दी.

BSNL

केंद्रीय मंत्री ने दी जानकारी

कैबिनेट बैठक के फैसलों की जानकारी देते हुए केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा, ‘सरकार ने बीएसएनएल के पुनरुद्धार के लिए 1.64 लाख करोड़ रुपये के पुनरुद्धार पैकेज को मंजूरी दी है. इसके अलावा कैबिनेट ने भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) और भारत ब्रॉडबैंड नेटवर्क लिमिटेड (बीबीएनएल) के विलय को मंजूरी दी.

आपको क्या मिलेगा फायदा

गौरतलब है कि इस विलय से अब बीएसएनएल का देश भर में फैले बीबीएनएल के 5.67 लाख किलोमीटर ऑप्टिकल फाइबर पर पूर्ण नियंत्रण हो जाएगा. इसके लिए सरकार अगले तीन साल में बीएसएनएल के लिए 23,000 करोड़ रुपये के बॉन्ड जारी करेगी. वहीं, सरकार 2 साल में एमटीएनएल के लिए 17,500 करोड़ रुपये का बॉन्ड जारी करेगी. केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा, ‘सरकार ने बीएसएनएल के पुनरुद्धार के लिए 1,6,4 156 करोड़ रुपये के पुनरुद्धार पैकेज को मंजूरी दी है. इससे टेलीकॉम कंपनी को 4जी में अपग्रेड करने में मदद मिलेगी.

यह भी पढ़े -   बुलेट ट्रेन को लेकर ताजा अपडेट आई सामने, रेलवे ने बताया कहां तक पहुंचा प्रोजेक्ट का काम

क्या है सरकार की तैयारी

बीएसएनएल के पास 6.80 लाख किमी से अधिक ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क है. वहीं, बीबीएनएल ने देश की 1.85 लाख ग्राम पंचायतों में 5.67 लाख किलोमीटर ऑप्टिकल फाइबर बिछाया है. यूनिवर्सल सर्विस ऑब्लिगेशन फंड (यूएसओएफ) के माध्यम से बीएसएलएन बीबीएनएल द्वारा बिछाए गए फाइबर का नियंत्रण प्राप्त करेगा.

यह भी पढ़े -   Mother Dairy Milk Price: अब मदर डेयरी ने भी बढ़ाया दूध का दाम, जानें नए भाव

अश्विनी वैष्णव ने कहा कि बीएसएनएल के 33,000 करोड़ रुपये के वैधानिक बकाया को इक्विटी में बदला जाएगा. साथ ही कंपनी इतनी ही राशि (33,000 करोड़ रुपये) के बैंक ऋण के भुगतान के लिए बांड जारी करेगी. उन्होंने कहा कि कैबिनेट ने बीएसएनएल और भारत ब्रॉडबैंड नेटवर्क लिमिटेड (बीबीएनएल) के विलय को भी मंजूरी दे दी है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!