SBI अपने नियमों में 1 जुलाई से करने जा रहा 6 बड़े बदलाव, आपकी जेब पर पड़ेगा सीधा असर

Casino

नई दिल्ली । कल से जुलाई महीने की शुरूआत होने जा रही है और इसके साथ ही देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक यानी एसबीआई (SBI) के नियमों में बड़े बदलाव होने जा रहे हैं. एसबीआई द्वारा किए जाने वाले इन बदलावों का सीधा असर आम आदमी की जेबों पर पड़ेगा.

State Bank of India

State Bank ने अपने बदले नियमों की जानकारी देते हुए कहा है कि 1 जुलाई 2021 से SBI Account holders के लिए नए सर्विस चार्ज लागू होंगे. चार्ज में बदलाव ATM विड्राल, Cheque book, मनी ट्रांसफर और दूसरे ट्रांजैक्शन में होगा. SBI ने इन खातों को न्यूनतम बैलेंस के जंजाल से फ्री रखा है. खाताधारकों को एक Rupay एटीएम कम डेबिट कार्ड मिलता है. इस ख़ास रिपोर्ट के माध्यम से जानिए एसबीआई कल से क्या-क्या बड़े बदलाव करने जा रहा है.

ATM से 4 बार से ज्यादा कैश निकालने पर लगेगा चार्ज

SBI की वेबसाइट के मुताबिक, 1 जुलाई 2021 से बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट अकाउंट्स के लिए अतिरिक्त वैल्यू एडेड सर्विसेज प्रभाव में आ रही हैं. ब्रांच से या फिर ATM से BSBD खाते से कैश निकासी (Cash Withdrawal) के मामले में महीने में 4 बार (एटीएम और ब्रांच मिलाकर) मुफ्त में कैश निकाला जा सकेगा. इसके बाद बैंक चार्ज वसूलेगा, जो कि ब्रांच चैनल/एटीएम में प्रति कैश निकासी 15 रुपये+जीएसटी तय किया गया. SBI एटीएम के अलावा, दूसरे बैंकों के एटीएम से निकासी पर भी इतना ही चार्ज लागू है.

यह भी पढ़े -   मुरथल के ढाबों पर अब गैरकानूनी कार्य करने वालों की खैर नहीं, पुलिस ने तैयार की विशेष रणनीति

चेकबुक चार्ज

SBI BSBD अकाउंट होल्डर्स को एक वित्त वर्ष में 10 पेज वाली चेकबुक मुफ्त मिलती है. हालांकि फ्री चेक बुक के बाद अब BSBD अकाउंट होल्डर्स को 10 पेज वाली चेकबुक के लिए 40 रुपये और GST का भुगतान करना होगा. वहीं 25 पेज वाली चेकबुक के लिए 75 रुपये और GST देना होगा. इसके अलावा अगर कोई अकाउंट होल्डर इमरजेंसी में 10 पेज वाली चेक बुक मंगाता है तो उसे उसके लिए 50 रुपये और GST का भुगतान करना होगा. हालांकि वरिष्ठ नागरिकों को इससे छूट दी गई है.

Canara Bank के कस्‍टमर के लिए जरूरी अपडेट

Syndicate bank का Canara Bank में विलय हुआ है और इसकी बैंकिंग डिटेल बदलने वाली है. केनरा बैंक ने कहा है कि पूर्ववर्ती सिंडिकेट बैंक की शाखाओं का IFSC कोड एक जुलाई, 2021 से बदल जाएगा. केनरा बैंक ने कहा कि ग्राहकों को NEFT/ RTGS/IMPS के जरिये फंड लेने के लिए नए केनरा आईएफएससी (Canara IFSC Code) का इस्तेमाल करना होगा.

यह भी पढ़े -   दिल्ली से जुड़ेगा हिसार एयरपोर्ट, बनाया जाएगा 180 किलोमीटर लंबा हाइस्पीड रेलवे ट्रैक

नया IFSC यूआरएल Canarabank.com/IFSC.Html या केनरा बैंक की वेबसाइट पर जाकर या केनरा बैंक की किसी शाखा में जाकर हासिल किया जा सकेगा. पूर्ववर्ती सिंडिकेट बैंक के ग्राहकों को बदले आईएफएससी और एमआईसीआर कोड के साथ नई चेक बुक हासिल करनी होगी.

LPG Rates Revision

LPG Rates का रिवीजन हर पखवारे होता है. तेल कंपनियां LPG rates की समीक्षा करती हैं और जरूरत के हिसाब से उसमें रद्दोबदल करती हैं.

Taxation : विवाद से विश्वास योजना

सरकार ने Covid 19 महामारी के कारण अपनी प्रत्यक्ष कर विवाद निवारण योजना ‘विवाद से विश्वास’ (Vivad Se Vishwas scheme) के तहत भुगतान करने की समय-सीमा दो महीने और बढ़ाकर 30 जून तक कर दी है. CBDT के मुताबिक प्रत्यक्ष कर विवाद से विश्वास अधिनियम, 2020 के तहत देय रकम के भुगतान का समय, बिना किसी अतिरिक्त रकम के, बढ़ाकर 30 जून, 2021 तक किया गया है. विवादित कर का 100 प्रतिशत और विवादित जुर्माना या ब्याज अथवा शुल्क का 25 प्रतिशत देकर लंबित मामलों का निपटान किया जा सकता है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा के छात्रों के लिए अच्छी खबर, अब सरकारी कार्यालयों में कर सकेंगे इंटर्नशिप, तैयार की गई पॉलिसी

घर बैठे बनेगा Driving License

लर्निंग लाइसेंस बनवाने के लिए RTO दफ्तर जाने की जरूरत नहीं होगी। व्यक्ति घर बैठे लर्निंग लाइसेंस बनवा सकता है. सरकार की योजना थी कि लर्निंग लाइसेंस बनाने की व्यवस्था को खत्म कर दिया जाए. वाहन चालकों को पूरी तरह से प्रशिक्षण देने के बाद स्थायी ड्राइविंग लाइसेंस दे दिया जाए. इसके लिए केंद्रीय मोटर वाहन अधिनियम को बदलना पड़ता. इसमें संशोधन करना आसान नहीं हैं. इसलिए सरकार ने लर्निंग लाइसेंस बनवाने वालों को RTO दफ्तर जाने से मुक्ति दिलाने की योजना तैयार की है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!