भारत बंद का हरियाणा में बुरा असर, रोडवेज को करोड़ों का हुआ नुकसान

पानीपत | केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि कानूनों के विरोध में किसान एक साल से अधिक समय से प्रदर्शन कर रहे हैं. बीते दिन किसानों ने पूरे देश में भारत बंद का आह्वान किया. हरियाणा राज्य में बंद का अच्छा खासा असर देखने को मिला. सोमवार 27 सितंबर, संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा पूरे देश में भारत बंद का आह्वान किया गया. हरियाणा राज्य में भारत बंद शांतिपूर्ण रहा. व्यापारियों ने बंद का समर्थन करते हुए मंडियों से खरीदारी नहीं की. प्रदेश में भारत बंद का प्रभाव मुख्य रूप से सड़कें व ट्रेन रोकने पर रहा. इंटर सिटी सड़कों के साथ ट्रेन यातायात में बाधा उत्पन्न हुई. भारत बंद का शहर के बाजारों पर असर नहीं दिखाई दिया. बाजार सुबह से ही खुले लेकिन ग्राहक नदारद रहे.

यह भी पढ़े -   डेंगू की बढ़ती रफ्तार को लेकर स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने ली हाई लेवल मीटिंग, अधिकारियों को दिए ये निर्देश

Haryana Roadways Bus

प्रदेश में सुबह 6:00 बजे से ही परिवहन की सेवाएं प्रभावित रही. अधिकतर रास्ते बंद होने के कारण रोडवेज बसों के पहिए रुक गए. स्थिति को देखते हुए सुबह साढ़े छह बजे जीएम ने रोडवेज बसों को बंद करने के निर्देश जारी किए. ऐसे लगभग सभी जिलों के रोडवेज डिपो के भीतर ही खड़ी रही और देर शाम को सुविधा फिर से शुरू की गई. पूरे दिन भर बसों का संचालन न होने के कारण रोडवेज को करोड़ों का नुकसान उठाना पड़ा. कुछ ही बसों का संचालन हो पाया जिनमें भी सवारियों की भारी कमी देखने को मिली.

यह भी पढ़े -   नल से जल नही आ रहा है तो विभाग के इस हेल्पलाइन नंबर पर करें फोन, तुरंत होगा समाधान

किसानों का भारत बंद हरियाणा राज्य में शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुआ. इस दौरान किसी भी तरह की हिंसक घटना देखने को नहीं मिली. प्रदेश सरकार की ओर से कहा गया कि पूरे प्रदेश में बंद की अपील और आंदोलन शांतिपूर्ण ढंग से रहा है. राज्य के किसी भी हिस्से से किसी तरह की कोई अनहोनी घटना की सूचना नहीं हैं.

 

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!