सरकार के निर्णय के विरोध में हरियाणा में आढ़ती आज से नहीं करेंगे सरकारी गेहूं का तोल

सिरसा । आढ़तियों ने गेहूं की फसल का भुगतान आढ़तियों के बैंक खातों में देने और अन्य कई मांगों को लेकर सरकार के लिए गेहूं तोल का कार्य ना करने की घोषणा की है. जिसकी वजह से किसानों को बड़ी कठिनाई से जूझना पड़ रहा है. जिले में चार एजेंसियों की तरफ से 59 खरीद केंद्रों पर गेहूं की खरीद की जा रही है और तोल का कार्य आढ़तियों की ओर से किया जाता है.

यह भी पढ़े -   हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला, डाक्टरों और मेडिकल स्टाफ को मुफ्त मिलेगी रेस्ट हाउस की सर्विस

Anaj Mandi

हरदीप सरकारिया जो सिरसा की आढ़ती एसोसिएशन के प्रधान है, उन्होंने जानकारी देते हुए कहा है कि सरकार के फैसलों के विरुद्ध आढ़ती एसोसिएशन की राज्य कमेटी द्वारा सभी आढ़तियों को सरकार के लिए गेहूं का तोल कार्य न करने के निर्देश दिए गए हैं. जिसकी वजह से सिरसा आढ़ती एसोसिएशन की तरफ से यह निर्णय लिया गया है कि वह भी वीरवार को हरियाणा सरकार की तरफ से खरीदी जा रही गेहूं की फसलों का तोल कार्य नहीं करेंगे.

यह भी पढ़े -   जिन बच्चों के अभिभावक कोरोना संक्रमित, उनकी देखभाल करेगा प्रशासन

इसके अतिरिक्त जौ, सरसों और अन्य निजी फसलों की खरीद का कार्य आढ़तियों द्वारा जारी रखा जाएगा. प्रधान हरदीप सिंह सरकारिया ने जानकारी देते हुए कहा है कि इस दौरान आढ़ती किसी प्रकार का कोई विरोध नहीं करेंगे और सभी आढ़तियों की दुकानें खुली रहेंगी. उन्होंने कहा कि केवल गेहूं को छोड़कर बाकी सभी फसलों की खरीदारी जारी रहेगी.

यह भी पढ़े -   बहादुरगढ़ की माशू ब्रेक कंपनी में लगी भीषण आग, आसमान में दूर-दूर तक छाया धुआँ

उन्होंने कहा कि हरियाणा प्रदेश अनाज मंडी एसोसिएशन की तरफ से सरकारी गेहूं का तोल कार्य पूर्ण रुप से बंद करने का फैसला लिया गया है. सरकार से किसानों की मांगों के संबंध में मीटिंग हुई थी, परंतु कोई हल नहीं निकला. सरकारी गेहूं तोल का कार्य वीरवार को बंद रखा जाएगा.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!