युवाओं के लिए खुशखबरी: आईटीआई में ये नए कोर्स शुरू करेगी प्रदेश सरकार

भिवानी । प्रदेश के युवाओं के लिए एक बहुत अच्छी खबर सामने आई है. प्रदेश सरकार आईटीआई में नए कोर्स शुरू करने की योजना बना रही है. देश के कौशल एवं औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री मूलचंद शर्मा ने कहा कि मौजूदा परिदृश्य को देखते हुए कौशल प्रशिक्षण योजना के अनुसार स्थानीय उद्योगों की मांग के अनुरूप ऐसे नए कोर्स शुरू किए जाने की आवश्यकता है. हरियाणा सरकार चाहती है कि आईटीआई के माध्यम से युवाओं को रोजगार के बहुत सारे अवसर प्राप्त हो और इसीलिए सरकार स्थानीय उद्योगों की मांग के अनुसार नए कोर्स स्थापित करने की तैयारी कर रही है.

यह भी पढ़े -   किसानों के लिए खुशखबरी हरियाणा सरकार जल्द देने वाली है ट्यूबवेल कनेक्शन

ITI Haryana

प्रदेश के कौशल एवं शिक्षा मंत्री मूलचंद शर्मा ने कहा कि अभी स्थानीय उद्योगों की मांग को देखते हुए नए कोर्स और ट्रेड को शुरू किए जाने चाहिए जो एनसीवीटी की मौजूदा लिस्ट में नहीं है. इसीलिए हरियाणा सरकार ने औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों के सभी ग्रुप इंस्पेक्टर व इंस्पेक्टर को नए कोर्सो की पहचान करने के आदेश दिए है,जो स्थानीय उद्योगों की मांग के अनुसार हो.

मूलचंद शर्मा जी ने बताया कि नए कोर्स शुरू करने से एक तरफ तो स्थानीय उद्योगों की जरूरतें पूरी होंगी और वहीं दूसरी तरफ युवाओं का रुझान भी आईटीआई की तरह बढ़ेगा. इस तरह की कोर्स को करके वह निजी क्षेत्र में भी अपनी पसंद की रोजगार हासिल कर सकते हैं. मूलचंद शर्मा ने कहा कि कम से कम 2 ग्रुप इंस्पेक्टर और इंस्पेक्टर की टीम ऐसे नए कोर्स का पता लगा कर उनकी एक संक्षिप्त रिपोर्ट बनाकर निदेशालय में भेजेंगे. कोर्स का नाम और नोट एकबंद लिफाफे में, सेक्टर 3 पंचकूला स्थित विभाग मुख्यालय के संयुक्त निदेशक को भेजना होगा.

यह भी पढ़े -   बहादुरगढ़ की माशू ब्रेक कंपनी में लगी भीषण आग, आसमान में दूर-दूर तक छाया धुआँ

उन्होंने कहा कि अगर विभागीय कमेटी इन कोर्स को उपयोगी मानती है तो, संबंधित टीम को एनसीवीटी से स्वीकृति प्राप्त करने के लिए विस्तृत पाठ्यक्रम तैयार करने के लिए कहा जाएगा. कौशल एवं प्रशिक्षण मंत्री जी ने बताया कि ग्रुप इंस्ट्रक्टर या इंस्ट्रक्टर को इस काम के लिए प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से, इस कार्य के लिए ₹50000 का मानदेय भी दिया जाएगा. यह मानदेय विभागीय कमेटी से एनसीवीटी के प्रारूप में हिंदी व अंग्रेजी भाषा में विस्तृत पाठ्यक्रम तैयार करने की अनुमति मिलने के बाद ही दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि संबंधित टीमें यह कार्य छुट्टी के दिन या आईटीआई के कार्यालय सुबह के बाद करेंगे ताकि उनका नियमित कार्य इससे प्रभावित ना हो.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!