HSSC का बड़ा फैसला, नौकरी ज्वाइन करने वालो के बॉयोमीट्रिक निशान का आधार नंबर से होगा मिलान

चंडीगढ़:- हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग (HSSC) ने भर्ती हुए उम्मीदवारों के बायोमेट्रिक निशान का मिलान आधार कार्ड से करने का बड़ा फैसला किया है. जल्दी ही आयोग आधार कार्ड बनाने वाली एजेंसी के साथ समझौता भी करेगा. हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के अध्यक्ष भोपाल सिंह खदरी ने दैनिक सवेरा अखबार से बात करते हुए बताया कि लिखित परीक्षा और दस्तावेज जांच के समय जो बायोमेट्रिक निशान लिए जाते हैं उनमें से जो आखिरी चयन से नियुक्त हो चुके हैं.

HSSC

ऐसे कर्मचारियों में से कुछ का डाटा रेंडम तौर पर आधार कार्ड बनाने वाली एजेंसी को भेजा जाएगा. अध्यक्ष ने बताया कि आधार कार्ड का डाटा उन्हें नहीं मिल सकता लेकिन उसका मिलान करवाने के लिए वह डांटा को आधार कार्ड एजेंसी को भेज सकते हैं. और इस के बदले आधार कार्ड एजेंसी को पेमेंट कर दी जाएगी. अध्यक्ष का कहना है कि यह मिलान करने पर यह पता चल जाएगा कि किसी ने परीक्षा किसी और के स्थान पर तो नहीं दी थी या दस्तावेज जांच के समय किसी के स्थान पर सीटर तो नहीं बैठा था.

दस्तावेज जांच के लिए पहुंचने वालों के डाटा का भी होगा मिलान

आयोग के अध्यक्ष भोपाल सिंह खदरी का कहना है कि आयोग ने एक आईटी एजेंसी के साथ समझौता किया है, जिससे क्लर्क पद के लिए हुई परीक्षा में जितने उम्मीदवारों ने भाग लिया था और दस्तावेज सत्यापन के लिए जितने उम्मीदवार पहुंचें थे. दोनों के बाय मेट्रिक निशान का डाटा एजेंसी द्वारा चेक किया जाएगा. तथा एजेंसी यह पता लगा देगी कि किसी ने एक बार से ज्यादा तो लिखित परीक्षा नहीं दी है. अध्यक्ष का कहना है कि एजेंसी एक हफ्ते में यह कार्य कर देगी. अध्यक्ष का कहना है कि ऐसा मामला सामने आया जिसमें एक लड़की ने 6 शिफ्ट में हुई परीक्षा दी है इसीलिए परीक्षा और दस्तावेज जांच के लिए पहुंचे उम्मीदवारों का ऑडिट करने का फैसला लिया गया है.

यह भी पढ़े -   DHFWS Panipat Jobs: पानीपत में आई मेडिकल ऑफिसर के पदों पर भर्ती, इंटरव्यू से होगा चयन

आयोग ने सीटर गैंग का यह निकाला तोड़

दस्तावेज जांच तक सीटर के पहुंचने के मामले के बाद अब आयोग द्वारा बड़ा फैसला लिया गया है. यदि किसी उम्मीदवार का चयन हो जाता है तो उसे जॉइनिंग करने से पहले बायोमेट्रिक निशान किए जा रहे हैं लेकिन इस जॉइनिंग के बाद उनकी बायमेट्रिक हाजिरी को आयोग रेंडम तरीके से चेक करेगा. इससे यह खुलासा होगा कि नौकरी असली उम्मीदवार कर रहा है या फिर सीटर. इसीलिए अब आधार नंबर के साथ भी बायोमेट्रिक मिलान करने का बड़ा निर्णय लिया गया है.

यह भी पढ़े -   HSSC CET एग्जाम की तैयारिया तेज़, अब सिपाही भर्ती भी होंगी CET परीक्षा के जरिये

क्लर्क पद के लिए 6000 में से 2983 पहुँचे, तीन और फर्जी

एचएसएससी अध्यक्ष ने बताया कि 4858 पदों के लिए नए सिरे से दस्तावेज जांच का कार्य जारी है. अभी तक 6000 उम्मीदवारों में से 2983 उम्मीदवारी पहुँचे है. तीन और फर्जी उम्मीदवार पकड़े गए हैं. अभी तक कुल 6 ऐसे उम्मीदवार हैं जिनके स्थान पर सीटर बैठे थे. अध्यक्ष ने बताया कि 1 सीटर तो ऐसा निकला है जो दस्तावेज जांच के लिए भी खुद ही आ गया. असली उम्मीदवार के स्थान पर सीटर ने परीक्षा दी और असली उम्मीदवार के स्थान पर चित्र दस्तावेज जांच के लिए आ गया लेकिन आयोग के चौककना होने के कारण वह पकड़ा गया. उन्होंने बताया कि अभी तक पकड़े गए 6 फर्जी उम्मीदवारों की सूचना पुलिस को दे दी गई है.

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे! हरियाणा की ताज़ा खबरों के लिए अभी हमारे हरियाणा ताज़ा खबर व्हात्सप्प ग्रुप में जुड़े!